शिवपुरी : मध्य प्रदेश में शिवपुरी से लगभग 55 किलोमीटर दूर सुभाषपुरा थानाक्षेत्र में सुल्तानगढ़ के पास एक प्राकृतिक झरने में बुधवार को अचानक पानी का बहाव तेज होने से 11 युवकों के पानी में बहने की आशंका है. पानी के तेज बहाव के बीच चट्टानों में फंसे लोगों में से आठ लोगों को हेलीकॉप्टर की सहायता से बाहर निकाल लिया गया. बुधवार को छुट्टी होने के चलते आसपास के क्षेत्र से बड़ी संख्या में लोग वहां पिकनिक मनाने गये थे. राज्य के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि राहत कार्य जारी है और लोगों को बचाने के प्रयास किए जा रहे हैं. Also Read - Madhya Pradesh: कोरोना को लेकर CM शिवराज ने लिया यह फैसला, इन राज्यों से लगी सभी सीमाएं होगी सील

शिवपुरी में मौजूद केंद्रीय मंत्री नरेंद्र तोमर के अनुसार करीब 34 लोग फंसे हुए हैं. हेलीकॉटर की मदद ली जा रही है, लेकिन अंधेरा होने के कारण हेलीकॉप्टर को लोगों को बचाने में मुश्किल आ रही है.

शिवपुरी के जिला कलेक्टर शिल्पा गुप्ता ने घटनास्थल से बताया कि झरने में पानी के तेज बहाव के बीच चट्टानों पर फंसे 27 लोगों में से अबतक आठ लोगों को हेलीकॉप्टर की सहायता से सुरक्षित बाहर निकाल लिया गया है. जिला पुलिस अधीक्षक राजेश हिंगनकर ने बताया, ‘‘झरने में पानी के तेज बहाव में चार या पांच लोगों के बहने की आशंका है.’’ उन्होंने कहा कि झरने के तेज बहाव के बीच चट्टानों पर फंसे लोगों को बाहर निकालने के प्रयास किये जा रहे हैं.

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने ट्वीट कर बताया कि राहत का काम लगातार जारी है. राहत टीमों से वे लगातार संपर्क में हैं. अब तक सात लोगों को बचाया जा चुका है.

एक प्रत्यक्षदर्शी ने बताया कि अवकाश होने के कारण आसपास के इलाकों से बड़ी संख्या में लोग यहां पिकनिक मनाने आये थे. इनमें से कई लोग पहाड़ी झरने में नहा रहे थे, तभी झरने में पानी का बहाव तेज हो गया. उन्होंने कहा कि शायद पहाड़ी इलाके में तेज बारिश होने से झरने में पानी का बहाव अचानक तेज हो गया.