विदिशा (मध्यप्रदेश): मध्य प्रदेश के विदिशा जिले के ग्यारसपुर प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र में 13 महिलाओं को नसबंदी का आपरेशन करने के बाद कथित तौर पर जमीन पर लिटाने के मामले में जांच के आदेश दिये गये हैं. विदिशा जिले के मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. के.एस. अहिरवार ने बुधवार को बताया कि जैसे ही मुझे 25 नवंबर को लगाये गये हेल्थ कैंप के दौरान ग्यारसपुर प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र में आपरेशन कराने वाली महिलाओं को फर्श पर लिटाने का पता चला, मैंने इसके बारे में जांच के आदेश दिये.

 

उन्होंने कहा कि मैं स्वयं इस स्वास्थ्य केन्द्र में गया और जानकारी जुटाई. अहिरवार ने बताया कि 41 महिलाओं की नसबंदी हुई थी. इनमें से 28 को पलंग पर लिटाया गया था. बाकी 13 महिलाओं को जमीन पर बिस्तर उपलब्ध कराकर लिटाया गया. उन्होंने कहा कि यह खबर सरासर गलत है कि सभी 41 महिलाओं को जमीन पर लिटाया गया, जिससे वे इंफेक्शन की चपेट में आयें. किसी भी महिला को इंफेक्शन नहीं हुआ.

सभी महिलाएं सभी फिट और स्वस्थ
अहिरवार ने बताया कि इन सभी महिलाओं को 26 नवंबर की सुबह डिस्चार्ज कर दिया गया था. वे सभी फिट और स्वस्थ हैं. उन्होंने कहा कि मैंने इस घटना को लेकर इस प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र के लगभग सभी कर्मचारियों को नोटिस जारी किया है.