इंदौर: मध्यप्रदेश के हाईप्रोफाइल आध्यात्मिक गुरु भय्यू महाराज की मौत मामले की जांच में नया मोड़ आ सकता है, क्योंकि उनकी 20 वर्षीय बेटी का कहना है कि वह संदिग्ध हालात में हुई इस मौत की सीबीआई जांच की औपचारिक मांग करने पर विचार कर रही है. उनकी पुत्री कुहू (20) ने मंगलवार को यहां संवाददाताओं को बताया, “हम विचार-विमर्श कर रहे हैं कि मेरे पिता की मौत की सीबीआई जांच की मांग की जाए. अगर मेरे पिता की मौत की कोई और वजह है, तो वह सामने आनी चाहिए. ” Also Read - CBI ने छत्तीसगढ़ का सेक्स सीडी केस को दिल्ली ट्रांसफर करने की मांग की, CM भूपेश बघेल हैं आरोपी

भय्यू महाराज की मौत के मामले में उनकी बेटी ने कहा कि भय्यू महाराज की मौत की सीबीआई जांच की मांग को लेकर सोच-विचार के बाद औपचारिक रूप से उचित कदम उठाया जाएगा. Also Read - प्राइवेट कंपनी को टेंडर देने लिए रेलवे अधिकारी ने ली एक करोड़ की रिश्वत, CBI ने रंगे हाथ पकड़ा, हुआ गिरफ्तार

भय्यू महाराज की पहली पत्नी से जन्मी बेटी ने कहा, “मैं अपने पिता की मौत की वजह के बारे में किसी व्यक्ति विशेष का नाम लेकर फिलहाल कुछ भी नहीं बोल सकती. लेकिन मुझे न्यायपालिका पर पूरा भरोसा है. ” Also Read - दो होटलों में चल रहा था Sex Racket, पुलिसकर्मी 'ग्राहक' बनें तो 5 युवतियों समेत 12 आए शिकंजे में

भय्यू महाराज (50) ने यहां अपने बायपास रोड स्थित बंगले में 12 जून 2018 को अपने लायसेंसी रिवॉल्वर से गोली मारकर कथित रूप से आत्महत्या कर ली थी. पुलिस ने इस सनसनीखेज घटना के सात महीने बाद उनके दो विश्वस्त सहयोगियों- विनायक दुधाड़े और शरद देशमुख के साथ एक युवती को गिरफ्तार किया था.

पुलिस के मुताबिक भय्यू महाराज के नजदीक रही युवती उन पर शादी के लिए कथित रूप से दबाव बना रही थी, जबकि अधेड़ उम्र के आध्यात्मिक गुरु पहले से शादीशुदा थे. दुधाड़े और देशमुख पर आरोप है कि वे भय्यू महाराज को ब्लैकमेल करने की साजिश में शुरूआत से शामिल थे और इस काम में युवती की लगातार मदद कर रहे थे.

भय्यू महाराज की पहली पत्नी माधवी की नवंबर 2015 में दिल का दौरा पड़ने से मौत हो गई थी.इसके बाद उन्होंने वर्ष 2017 में मध्यप्रदेश के शिवपुरी की डॉ. आयुषी शर्मा के साथ दूसरी शादी की थी.

भय्यू महाराज की कथित आत्महत्या का मुकदमा जिला अदालत में विचाराधीन है और उनकी दूसरी पत्नी आयुषी अभियोजन के गवाहों में शामिल हैं. हालांकि, अभियोजन के एक अधिकारी ने बताया कि वह अब तक एक बार भी बयान दर्ज कराने अदालत नहीं पहुंची हैं और इस गैर हाजिरी के पीछे उन्होंने अलग-अलग कारण बताए हैं.

अधिकारी ने बताया कि पिछली तारीख के दौरान आयुषी को 21 दिसंबर को मुकदमे में अपना बयान दर्ज कराने के लिए अदालत आना था, लेकिन कोविड-19 से पीड़ित होने के कारण वह नहीं आ सकीं.

भय्यू महाराज की पहली पत्नी से जन्मी कुहू ने एक सवाल पर कहा, “मैं इसका जवाब नहीं दे सकती कि वह (आयुषी) बयान देने अदालत क्यों नहीं आ रही हैं? आखिर यह उनके पति की मौत का मामला है और मैं महसूस करती हूं कि उन्हें अदालत आना चाहिए. वरना ऐसा लगेगा कि कुछ छिपाने की कोशिश की जा रही है. “