इंदौर. मध्य प्रदेश के सबसे बड़े सरकारी अस्पताल में ऑक्सीजन सप्लाई बंद होने से 7 मरीजों के मौत की खबर है. ऐसी खबर है कि कथित तौर पर ऑक्सीजन गैस की सप्लाई बंद होने से अस्पताल की तीसरी व पांचवीं मंजिल पर 7 से अधिक मरीजों की मौत हुई. मृतकों में 4 बच्चे भी शामिल बताए गए हैं. हालांकि अस्पताल प्रशासन ने इसकी पुष्टि नहीं की है.

एमवाय अस्पताल में जिन गंभीर मरीजों को ऑक्सीजन दी जा रही थी. सिर्फ आधे घंटे से 45 मिनट के अंतराल में उनमें अधिकतर की मौत हो गई. मृतकों में एक 70 वर्षीय अज्ञात वृद्ध शामिल है जिसे रात साढ़े तीन बजे ही उज्जैन से लाकर पांचवीं मंजिल के 27 नंबर वार्ड में भर्ती किया गया था. एक दैनिक अखबार की खबर के मुताबिक, जब अस्पताल के अधीक्षक डॉ. वीएस पाल से इस संबंध में फोन पर जानकारी मांगी गई तो पहले उन्होंने अनभिज्ञता जताते हुए कहा कि मैं तो अस्पताल में बैठा हूं, कोई मौत नहीं हुई.

आखिर जब उन्हें नाम पते सहित बताया गया कि एमएलसी केस के मरीज एक साथ कैसे चल बसे तो अधीक्षक का जवाब था कि ऑक्सीजन बंद होने के कारण किसी की भी मौत नहीं हुई. कमिश्नर संजय दुबे ने ईटीवी नेटवर्क से बताया है कि अस्पताल में ऑक्सीजन बंद होने की वजह से कोई मौत नहीं हुई है.