भोपाल: मध्यप्रदेश में कांग्रेस के 22 विधायकों के त्यागपत्र के बाद संकट में आई कांग्रेस सरकार ने मंगलवार शाम को विधायक दल की बैठक में मौजूद अपने 92 विधायकों को एकजुट रखने के लिए किसी अज्ञात स्थान पर एक साथ रखने का निर्णय लिया है. बता दें कि बीजेपी भी अपने विधायकों को अज्ञात जगहों पर ले जा रही है. Also Read - भाजपा अध्यक्ष ने कहा- लॉकडाउन में पैदल घर को निकले लोगों की मदद करें पार्टी कार्यकर्ता 

प्रदेश कांग्रेस ने एक नेता ने कहा कि सरकार को समर्थन कर रहे हमारे 92 विधायकों को प्रदेश के एक होटल में एकसाथ रखा जाएगा. ज्योतिरादित्य के समर्थन में कांग्रेस के बागी हुए 22 विधायकों के त्यागपत्र के बाद कांग्रेस ने अपने बाकी बचे विधायकों को एकजुट रखने के लिए यह कदम उठाया है. मंगलवार सुबह ज्योतिरादित्य सिंधिया ने दिल्ली में कांग्रेस की प्राथमिक सदस्यता से त्यागपत्र दे दिया. इसके बाद सिंधिया समर्थक कांग्रेस विधायकों के इस्तीफा का सिलसिला शुरू हो गया और शाम तक 22 विधायकों ने त्यागपत्र दे दिये. Also Read - लोगों को लाने के लिए विमान का प्रयोग तो गरीबों के लिए बस का क्यों नहीं : कांग्रेस

इस घटनाक्रम के बाद प्रदेश में कमलनाथ के नेतृत्व वाली कांग्रेस सरकार कथित तौर पर अल्पमत में आ गई मालूम होती है. इस बीच कांग्रेस ने अपने विधायकों के साथ ही चार निर्दलीय विधायकों के समर्थन का भी दावा किया है. Also Read - राहुल गांधी ने सरकार को सराहा, कहा- आर्थिक पैकेज की घोषणा सही दिशा में पहला कदम