भोपाल: समाजवादी पार्टी (सपा) अध्यक्ष अखिलेश यादव ने मंगलवार को दावा किया कि मध्यप्रदेश विधानसभा चुनाव के लिए कांग्रेस प्रस्तावित गठबंधन में बहुजन समाज पार्टी (बसपा) को शामिल करने को तैयार नहीं थी. यही कारण था कि सपा का भी कांग्रेस के साथ गठबंधन नहीं हो पाया. Also Read - 'गेस्‍ट हाउस' से बाहर निकले माया-अखिलेश, ये बैनर-पोस्टर भी दे रहे राजनीति बदलने के संकेत

अखिलेश यादव ने मध्यप्रदेश विधानसभा चुनाव के लिए सपा का घोषणापत्र जारी करने के बाद बताया, ‘‘हमने कांग्रेस से कहा था कि मध्यप्रदेश में लड़ाई बड़ी है. बसपा को भी साथ लीजिए. कांग्रेस सपा से तो गठबंधन करने को तैयार थी, लेकिन बसपा के साथ वो कोई समझौता नहीं करना चाहती थी.’’ उन्होंने कहा, ‘‘इसीलिए मध्यप्रदेश में कांग्रेस और सपा का समझौता नहीं हो पाया और गठबंधन नहीं हुआ.’’ Also Read - अपर्णा ने कहा- अखिलेश से नाराज नहीं हैं चाचा शिवपाल, ऑफर मिला तो सपा-बसपा गठबंधन में होंगे शामिल

मध्य प्रदेश विधानसभा चुनाव 2018: करीब 15 सीटों पर अपनों की बगावत से संकट में भाजपा Also Read - नितिन गडकरी ने कहा- राम मंदिर सांप्रदायिक मुद्दा नहीं, समस्या के समाधान का बताया ये रास्ता

उत्तरप्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने दावा किया कि अगर कांग्रेस का मध्य प्रदेश में सपा, बसपा एवं गोंडवाना गणतंत्र पार्टी (जीजीपी) के साथ गठबंधन होता तो हमें (गठबंधन को) प्रदेश की कुल 230 सीटों में से 200 से ज्यादा सीटें मिलती. वर्ष 2014 के बाद देश में अधिकतर राज्यों में भाजपा सरकार आने की ओर इशारा करते हुए उन्होंने कहा कि इसके लिए कांग्रेस की नीतियां जिम्मेदार हैं. उन्होंने कहा, ‘‘कांग्रेस ने गठबंधन न करके हमें कांग्रेस की आलोचना करने का अवसर दे दिया है. अब हम उनकी (कांग्रेस) नाकामियां बताएंगे.’’

कांग्रेस हो या बीजेपी बुंदेलखंड के इन दो दिग्‍गज नेताओं को नजरअंदाज करना आसान नहीं

अयोध्या में राममंदिर निर्माण के बारे में पूछे गये सवाल के जवाब में उन्होंने कहा कि यह मामला वर्तमान में सुप्रीम कोर्ट में विचाराधीन है. इसलिए मैं इस पर टिप्पणी नहीं करूंगा. अखिलेश यादव ने कहा, ‘‘जब भी हम भाजपा को नोटबंदी, जीएसटी एवं वर्ष 2014 के लोकसभा चुनाव के दौरान प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी द्वारा युवाओं के लिए किये गये दो करोड़ रोजगार देने के वादे के बारे में घेरते हैं, तो वे (भाजपा के नेता) जाति, राममंदिर एवं अन्य मुद्दों को उठाकर अपने को बचाने के लिए उनका आश्रय लेने लगते हैं.’’