भोपाल: मध्य प्रदेश में चल रहे सियासी घमासान के बीच अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी ने अपने प्रतिनिधि के तौर पर राष्ट्रीय सचिव सुधांशु त्रिपाठी को भोपाल भेजा है. वह यहां मुख्यमंत्री कमलनाथ और पार्टी के अन्य नेताओं से चर्चा करेंगे. Also Read - कोरोना वायरस ने बढ़ाई सरकार की चिंता, भोपाल, इंदौर और उज्जैन पूरी तरह सील

कांग्रेस सूत्रों का कहना है कि वर्तमान राजनीतिक हालात को देखते हुए अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी ने अपने प्रतिनिधि के तौर पर राज्य के प्रभारी महासचिव दीपक बावरिया के साथ विधानसभा चुनाव और उसके बाद से कार्यकर्ताओं के बीच संगठन की मजबूती के लिए काम करने वाले राष्ट्रीय सचिव त्रिपाठी को भोपाल भेजा है. Also Read - इंदौर के बाद कोरोना का दूसरा बड़ा हॉटस्पॉट केंद्र बना भोपाल, हर दिन बढ़ रही संक्रमितों की संख्या

सूत्रों के अनुसार, त्रिपाठी को पार्टी हाईकमान ने यह जिम्मेदारी सौंपी है कि वह भोपाल पहुंचकर मुख्यमंत्री कमलनाथ और अन्य नेताओं से मुलाकात कर हालात पर चर्चा करेंगे. साथ ही त्रिपाठी उन विधायकों से भी संवाद कर सकते हैं, जो अभी भोपाल से बाहर हैं. Also Read - केंद्र सरकार पर कांग्रेस का आरोप, डर कर बदला दवा देने का फैसला, 1971 में इंदिरा गांधी ने दिया था करारा जवाब

ज्ञात हो कि कांग्रेस के वरिष्ठ नेता ज्योतिरादित्य सिंधिया ने पार्टी की प्राथमिकता से इस्तीफा दे दिया है. वहीं 19 विधायकों ने भी अपने पद से इस्तीफा दे दिया है. वहीं मुख्यमंत्री कमलनाथ ने छह मंत्रियों को बर्खास्त करने की सिफारिश की है. इसके चलते सरकार पर संकट बना हुआ है.