इंदौर: मध्यप्रदेश में 28 नवंबर को होने वाले विधानसभा चुनावों के लिए प्रचार के अंतिम समय में सत्तारूढ़ भाजपा के पक्ष में माहौल बनाने के लिए पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह ने सोमवार को सूबे की आर्थिक राजधानी इंदौर में रोड शो किया. उन्होंने राज्य में लगातार चौथी बार विधानसभा चुनाव जीतने की चुनौती से जूझ रही अपनी पार्टी के लिए मतदाताओं से समर्थन मांगा. करीब दो घंटे चले रोड शो के दौरान भाजपा अध्यक्ष ने हाथ हिलाकर और हाथ जोड़कर जनता का अभिवादन किया. Also Read - Bihar Assembly Election 2020: भाजपा के मेनिफेस्टो पर मचा बवाल, तो BJP ने किया पलटवार

Also Read - बिहार में मुफ्त वैक्सीन बांटने के वादे पर राहुल गांधी का बीजेपी पर हमला, RJD बोली- इसमें भी चुनावी सौदेबाजी, छी-छी

मध्य प्रदेश चुनाव: जनता से पहले जीत की ‘गारंटी’ के लिए इस ‘राजा’ की चौखट पर मत्था टेक रहे नेता Also Read - Bihar Assembly Election: बिहार में कोरोना वैक्सीन मुफ्त बांटने के वादे से बवाल, बीजेपी के खिलाफ चुनाव आयोग में शिकायत

 रथ जैसेे विशेष वाहन पर सवार 

शाह इंदौर शहर के चिकमंगलूर चौराहे से रथ की शक्ल वाले बीजेपी के विशेष वाहन पर सवार हुए. यह काफिला जुलूस के रूप में खातीपुरा, राजबाड़ा और सर्राफा बाजार समेत अलग-अलग वाणिज्यिक इलाकों से गुजरते हुए सीतलामाता कपड़ा बाजार में खत्म हुआ. ये इलाके शहर के दो विधानसभा क्षेत्रों-क्रमांक तीन और क्रमांक-चार का हिस्सा हैं.

तेलंगाना में अमित शाह बोले, बीजेपी कभी भी धर्म आधारित आरक्षण की इजाजत नहीं देगी

महा जनसंंपर्क अभियान की शुरुआत

बीजेपी के स्थानीय उम्मीदवारों के साथ पार्टी के राष्ट्रीय महासचिव कैलाश विजयवर्गीय और प्रदेश इकाई के अध्यक्ष राकेश सिंह भी शाह के करीब तीन किलोमीटर लंबे रोड शो में शामिल हुए. शाह ने प्रदेश में भाजपा के चुनावी “महा जनसंंपर्क अभियान” की शुरुआत भी इंदौर से ही छह अक्टूबर को थी.

केंद्र में मोदी, यूपी में योगी, अब राम मंदिर न बनाने का कोई बहाना नहीं चलेगा: उमा भारती

पिछले चुनाव में भाजपा ने पांचों सीटें जीती थीं

इंदौर सत्तारूढ़ भाजपा का मजबूत गढ़ माना जाता है. इसकी शहरी सीमा में विधानसभा की कुल पांच सीटें हैं. साल 2013 के पिछले विधानसभा चुनावों में भाजपा ने पांचों सीटें जीती थीं.

मुद्दे नहीं बचे तो कांग्रेस मेरी मां और पिता जी को राजनीति में घसीट लाई: पीएम मोदी

मतदान के 48 घंटे पहले चुनाव प्रचार थमा

बहरहाल, सत्ताविरोधी लहर को लेकर कांग्रेस के आरोपों के बीच शहर में बदले सियासी समीकरणों के कारण इस बार कांटे की चुनावी टक्कर है. इसके मद्देनजर सत्तारूढ़ भाजपा को अपना गढ़ बचाने के लिए एड़ी-चोटी का जोर लगाते देखा गया है. मध्‍य प्रदेश में चुनाव प्रचार मतदान के 48 घंटे पहले सोमवार शाम पांच बजे थम गया. राज्य की 230 विधानसभा सीटों पर 28 नवम्बर को मतदान होना है. मतों की गिनती 11 दिसंबर को की जाएगी.