रीवा: मध्य प्रदेश के रीवा जिले से चार साल पहले लापता युवक की पाकिस्तान के लाहौर की जेल में होने की खबर आई है. यह युवक पाकिस्तान कैसे पहुंचा, इसका खुलासा नहीं हो पाया है. केंद्रीय गृह विभाग ने युवक से जुड़े दस्तावेज मांगे, जो उसे भेज दिए गए हैं. सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार, पाकिस्तान की ओर से वहां की जेलों में बंद भारतीय लोगों की जो सूची भारत सरकार के पास आई, उसमें रीवा के अनिल साकेत (24) का भी नाम है. Also Read - पाकिस्तानी सैनिकों ने Ceasefire Violation किया, LoC पर BSF अफसर शहीद

अनिल रीवा जिले के नईगढ़ी थाना क्षेत्र के सहदना गांव का निवासी बताया गया है. अनिल 15 जनवरी, 2015 को लापता हो गया था. उसके बाद परिजनों ने थाने में रिपोर्ट दर्ज कराई, मगर पता नहीं चला. अब अनिल के पाकिस्तान के लाहौर की जेल में होने की सूचना आई है, जिससे उसका परिवार खुशी से फूला नहीं समा रहा है. परिवार ने पीएम नरेंद्र मोदी से अनिल की जल्‍द रिहाई की गुजारिश की है. Also Read - मिसाल: पांचवीं तक पढ़ी मोबिना ने पढ़ाया IAS अफसरों को पाठ

सूत्रों के अनुसार, केंद्रीय गृह विभाग ने अनिल से जुड़े विभिन्न दस्तावेज मंगाए थे, ताकि इस बात की पुष्टि हो सके कि लाहौर में बंद अनिल रीवा जिले का निवासी है. Also Read - Love Jihad: उमेश से मंदिर में की लव मैरिज, मां बनने के बाद पता चल पाया कि वह है सलमान

रीवा के पुलिस अधीक्षक आबिद खान ने भी गुरुवार को बताया कि भारत सरकार ने अनिल से संबंधित जानकारी मांगी गई थी जो भेज दी गई है. अनिल नाम का व्यक्ति पाकिस्तान की लाहौर जेल में बंद है.