रीवा: मध्य प्रदेश के रीवा जिले से चार साल पहले लापता युवक की पाकिस्तान के लाहौर की जेल में होने की खबर आई है. यह युवक पाकिस्तान कैसे पहुंचा, इसका खुलासा नहीं हो पाया है. केंद्रीय गृह विभाग ने युवक से जुड़े दस्तावेज मांगे, जो उसे भेज दिए गए हैं. सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार, पाकिस्तान की ओर से वहां की जेलों में बंद भारतीय लोगों की जो सूची भारत सरकार के पास आई, उसमें रीवा के अनिल साकेत (24) का भी नाम है. Also Read - US Election: भारतवंशी निक्की हेली का दावा, अमेरिका ने तोड़ी पाकिस्तान की कमर, बंद की अरबों की फंडिंग

अनिल रीवा जिले के नईगढ़ी थाना क्षेत्र के सहदना गांव का निवासी बताया गया है. अनिल 15 जनवरी, 2015 को लापता हो गया था. उसके बाद परिजनों ने थाने में रिपोर्ट दर्ज कराई, मगर पता नहीं चला. अब अनिल के पाकिस्तान के लाहौर की जेल में होने की सूचना आई है, जिससे उसका परिवार खुशी से फूला नहीं समा रहा है. परिवार ने पीएम नरेंद्र मोदी से अनिल की जल्‍द रिहाई की गुजारिश की है. Also Read - आतंकी आकाओं पर लगाम लगाने में फेल इमरान, FATF की ग्रे लिस्ट में ही रहेगा पाकिस्तान

सूत्रों के अनुसार, केंद्रीय गृह विभाग ने अनिल से जुड़े विभिन्न दस्तावेज मंगाए थे, ताकि इस बात की पुष्टि हो सके कि लाहौर में बंद अनिल रीवा जिले का निवासी है. Also Read - Dussehra 2020: संतान प्राप्ति के लिए यहां की जाती है रावण की पूजा, प्रतिमा के आगे घूंघट में जाती हैं औरतें

रीवा के पुलिस अधीक्षक आबिद खान ने भी गुरुवार को बताया कि भारत सरकार ने अनिल से संबंधित जानकारी मांगी गई थी जो भेज दी गई है. अनिल नाम का व्यक्ति पाकिस्तान की लाहौर जेल में बंद है.