Madhya Pradesh News: मध्य प्रदेश के अनूपपुर जिले में एक सिरफिरे युवक ने अपने भाई के परिवार के चार सदस्यों को आग के हवाले कर दिया और खुद फांसी के फंदे पर झूल गया. जलाए गए चार में से तीन और फांसी पर झूले आरोपी युवक की मौत हो गई. इस वारदात की वजह पारिवारिक विवाद बताया जा रहा है. पुलिस से मिली जानकारी के अनुसार जैतहरी थाने के धनगवां में एक युवक दीपक विश्वकर्मा ने बीती रात अपने भाई ओमकार विश्वकर्मा के परिवार के सदस्यों के कमरे में डीजल डालकर आग लगा दी.Also Read - एमपी के मंदसौर जिले में मुस्लिम पत्रकार ने हिंदू धर्म अपनाया, नया नाम चेतन सिंह राजपूत

उसने यह आग उनके कमरे में नीचे से डीजल डालकर लगाई थी. आग ने कुछ ही देर में विकराल रुप ले लिया और लोग चाहकर भी बाहर नहीं निकल पाए. इस आग की चपेट में आकर ओमकार, उनकी पत्नी कस्तूरी, पुत्री निधि की जलकर मौत हो गई, वहीं, आरोपी का भतीजा आशीष बुरी तरह झुलस गया. वहीं दीपक खुद फांसी के फंदे पर झूल गया. Also Read - मध्य प्रदेश में त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव 25 जून से तीन चरणों में होगा, 30 मई से शुरू होगी नामांकन प्रक्रिया, पढ़ें पूरा डिटेल

बताया गया है कि दीपक कुल तीन भाई हैं, जिनमें से दो भाईयों ने उसे कारोबार के लिए दस लाख का कर्ज दिलाया था, मगर उसने कर्ज की किश्त नहीं दी. इसी बात को लेकर विवाद भी होता था. उसी के चलते दीपक ने यह कदम उठाया. उसने दीवार पर भी अपनी बात लिखी है. इससे पता चलता है कि भाईयों के बीच कर्ज को लेकर विवाद था. अनूपपुर के पुलिस अधीक्षक एमएल सोलंकी ने बताया कि, “घटनास्थल को देखकर लगता है कि पारिवारिक विवाद के चलते इस वारदात को अंजाम दिया गया. प्रारंभिक जांच में यह लगता है कि वारदात को दीपक ने अंजाम दिया है.” Also Read - दिल्ली के सफदरजंग अस्पताल में भीषण आग, फायर ब्रिगेड ने मौके पर पहुंचकर आग पर काबू पाया