इंदौर/भोपाल: मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री कमलनाथ का नाम लेकर पूर्व विधायक सुरेंद्रनाथ सिंह के विवादित बयान पर बवाल के बीच भाजपा ने शुक्रवार को कहा कि वह इस मामले को देखेगी और जरूरत पड़ने पर उचित कदम उठायेगी. प्रदेश भाजपा अध्यक्ष राकेश सिंह ने यहां संवाददाताओं से कहा कि मुझे (सुरेंद्रनाथ सिंह की) गिरफ्तारी की जानकारी मिली है. हम उन कारणों को देखेंगे कि जिनसे उनकी गिरफ्तारी हुई है और अगर पार्टी को ऐसा लगेगा कि मामला कार्रवाई लायक है, तो हम कार्रवाई करेंगे.

गौरतलब है कि पूर्व भाजपा विधायक सुरेंद्रनाथ सिंह ने बृहस्पतिवार को भोपाल में एक विरोध प्रदर्शन के दौरान नारा लगवाते हुए कहा कि हमारी मांगें पूरी नहीं हुईं तो खून बहेगा सड़कों पर. घटना के वायरल वीडियो में सुरेंद्रनाथ सिंह यह नारा लगवाने के फौरन बाद कहते सुनायी पड़ रहे हैं, …और वह खून कमलनाथ का होगा. यह प्रदर्शन भोपाल नगर निगम द्वारा शहर में वर्षों से जमीं गुमटियां हटाये जाने एवं झुग्गीवासियों को मिल रहे भारी-भरकम बिजली बिलों के मुद्दों को लेकर किया जा रहा था. हालांकि, विवाद बढ़ने पर सुरेंद्रनाथ सिंह ने सफाई देते हुए कहा कि भोपाल में मेरे नेतृत्व में हुए प्रदर्शन के दौरान प्रदर्शनकारी नारे लगा रहे थे- हमारी मांगें पूरी नहीं हुईं, तो खून बहेगा सड़कों पर. इस दौरान भीड़ में से किसी ने अचानक पूछा था-किसका? इसके जवाब में मैंने अनजाने में कह दिया था-कमलनाथ का.

इस बीच, इंदौर में मीडिया ने सूबे के भाजपा नेताओं की कथित भूमिका वाली विवादित घटनाओं के आये दिन सामने आने के बारे में भी प्रदेश भाजपा अध्यक्ष राकेश सिंह से सवाल किया. अनौपचारिक बातचीत में किये गये इस सवाल पर उन्होंने कहा कि ऐसी घटनाएं कहीं भी सामने नहीं आ रही हैं. भाजपा देश की सबसे बड़ी और सबसे ज्यादा अनुशासित पार्टी है. यह वह पार्टी है, जिसके सभी कार्यकर्ता पार्टी की रीति-नीति के हिसाब से चलते हैं और जब भी ऐसा नहीं होता, तो पार्टी इसकी चिंता करती है.

बहरहाल, प्रदेश भाजपा अध्यक्ष पार्टी के स्थानीय विधायक आकाश विजयवर्गीय द्वारा नगर निगम अधिकारी को बल्ले से सरेआम पीटने के बहुचर्चित घटनाक्रम से जुड़े सवाल को अनसुना करते दिखायी दिये. उनसे पूछा गया था कि क्या भाजपा द्वारा पार्टी के उन स्थानीय नेताओं पर कोई अनुशासनात्मक कार्रवाई की जायेगी जिन्होंने बल्ला कांड में जिला जेल से रिहाई के बाद विजयवर्गीय का स्वागत किया था. प्रदेश भाजपा अध्यक्ष इस प्रश्न का जवाब दिये बगैर ही मौके से रवाना होते दिखायी दिये.