भोपाल: मध्यप्रदेश भाजपा ने रविवार को कहा कि वह चार दिन पहले एक विधेयक पर हुए मत विभाजन में कांग्रेस विधायकों के हस्ताक्षरों का सत्यापन करवाने के लिए प्रदेश के राज्यपाल से शिकायत करने पर विचार कर रही है. इस विधेयक में भाजपा के दो विधायकों ने क्रॉस वोटिंग की थी, जिससे भाजपा तिलमिलाई हुई है. मध्यप्रदेश विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष गोपाल भार्गव ने बताया, ”हमें पता चला है कि बुधवार शाम को दंड विधि (मध्य प्रदेश संशोधन) विधेयक, 2019 पर मत विभाजन के दौरान सदन में कांग्रेस के करीब 8 से 12 विधायक मौजूद नहीं थे, लेकिन उन्होंने भी इस मतदान में भाग लिया था. उन्होंने सवाल किया कि जब कांग्रेस के 8 से 12 विधायक सदन में मौजूद नहीं थे, तो कांग्रेस को 122 मत कैसे मिले? Also Read - West Bengal: PM मोदी के पहुंचने से पहले बवाल, हावड़ा में BJP कार्यर्ताओं पर हमला, TMC वर्कर्स पर आरोप

Also Read - सुभाष चंद्र बोस की 125वीं जयंती: गृह मंत्री अमित शाह ने नेताजी को दी श्रद्धांजलि, कही ये बात

मध्य प्रदेश: दिग्विजय सिंह के मंत्री बेटे ने CM कमलनाथ को बताया ‘सूबे का इकलौता शेर’, बताई ये वजह Also Read - Congress President Election: कांग्रेस ने कहा- जून में उसका नया निर्वाचित अध्यक्ष होगा

नेता प्रतिपक्ष ने कहा, ” हमें संदेह है कि कांग्रेस के इन विधायकों के हस्ताक्षर फर्जी हैं. इसके अलावा, मत विभाजन की प्रक्रिया का वीडियो भी नहीं बनाया गया है.” भार्गव ने कहा, ” अभी हम संविधान द्वारा प्रदत्त राज्यपाल की शक्तियों का अध्ययन कर रहे हैं और इसके बाद राज्यपाल से शिकायत कर अनुरोध करेंगे कि कांग्रेस के उन विधायकों के हस्ताक्षरों को सत्यापित करवाएं, जिन्होंने सदन में बिना मौजूदगी के मत विभाजन में हस्ताक्षर किए हैं.

BJP केंद्रीय नेतृत्‍व ने प्रदेश अध्‍यक्ष को रातों-रात भेजा भोपाल, शाम तक दिल्‍ली में सौंपेंगे रिपोर्ट

बता दें कि कि मध्यप्रदेश विधानसभा में कांग्रेस के कुल 114 विधायक हैं और चार निर्दलीय, दो बसपा एवं एक सपा विधायकों ने कांग्रेस सरकार को समर्थन दिया है. इस प्रकार कमलनाथ के नेतृत्व वाली कांग्रेस नीत सरकार के पास 121 विधायकों का समर्थन है. इस विधेयक पर विधानसभा अध्यक्ष ने मतदान नहीं किया था. इस प्रकार कांग्रेस के पास कुल 120 वोट हुए. इनके अलावा, इस विधेयक पर बीजेपी के दो विधायकों नारायण त्रिपाठी और शरद कोल ने अपना समर्थन सत्तारूढ़ पक्ष में किया था.

कंप्‍यूटर बाबा का दावा- 4 बीजेपी MLA मेरे संपर्क में, जब CM कमलनाथ कहेंगे, तो पेश कर दूंगा