नई दिल्‍ली: ये वीडियो मध्‍य प्रदेश के इंदौर शहर का है, जहां बैट लेकर सरकारी कर्मचारियों की पिटाई करने वाला शख्‍स कोई साधारण आदमी नहीं, बल्‍कि बीजेपी के राष्‍ट्रीय महासचिव कैलाश विजयवर्गीय के विधायक बेटे आकाश विजयवर्गीय हैं. वीडियो में वे महानगरनिगम के अधिकारियों और कर्मचारियों की पिटाई करते नजर आ रहे हैं. दरअसल, मामला यह है कि नगरनिगम का अमला एक ऐसी इमारत को तोड़ने गंजी कंपाउंड पहुंचे थे, जिसके बारिश में गिरने का खतरा था. अमले ने मकान को तोड़ने की कार्रवाई की तो लोग इसके गिराने जाने के विरोध में उतर आए. लोगों ने विधायक आकाश विजयवर्गीय और उनके कार्यकर्ताओं को बुला लिया.

बीजेपी विधायक विजयवर्गीय ने नगरनिगम के अधिकारियों को डांटा तो उनके बीच बहस हो गई और इसके बाद उन्‍होंने बैट लेकर अधिकारियों को पीटना शुरू कर दिया. गुसाए आकाश ने अधिकारियों की पिटाई कर दी. इसके बाद उनके समर्थकों ने भी हाथ चलाए. इस दौरान पुलिस ने पहुंचकर बीच बचाव कर विधायक को शांत कराया. न‍गर निगम के अमले की ओर से विधायक के खिलाफ एफआई दर्ज कराने की बात कही गई है. बताया जा रहा है कि बीजेपी विधायक इस बात से नाराज हो गए क्‍योंकि नगरनिगम अमले के अधिकारियों ने महिलाओं से दुर्व्‍यवहार किया है.

आकाश विजयवर्गीय ने घटना के बाद कहा, “नगर निगम के कर्मचारी और अधिकारी महिलाओं से अभद्रता कर रहे थे, जिस पर मुझे गुस्सा आ गया. गुस्से में क्या किया और क्या कहा, मुझे याद नहीं है.”

इस दौरान विजयवर्गीय समर्थकों की नगर निगम के अमले से धक्का-मुक्की हुई. पुलिस ने बीच-बचाव किया. भीड़ ने पथराव भी किया. इतना ही नहीं जेसीबी मशीन की चाबी भी निकाल ली. इस घटना के बाद भाजपा समर्थकों ने एमजी रोड थाने का घेराव कर दिया. वे नगर निगम के अमले के खिलाफ रिपोर्ट लिखने की मांग कर रहे हैं.

इस भ्रष्‍टाचार और गुंडावाद को खत्‍म करेंगे
बीजेपी एमएलए आकाश विजयवर्गीय ने नगर निगम के अधिकारियों से मारपीट करने के मामले पर कहा, ” यह तो अभी शुरुआत है, हम इस भ्रष्‍टाचार और गुंडावाद को खत्‍म कर देंगे. ‘आवेदन, निवेदन और फिर दनादन’ यह हमारी एक्‍शन लाइन है.”

निगम कर्मचारियों ने महिलाओं को लातमार कर घरों से बाहर निकाला
विधायक विजयवर्गीय ने कहा, गैंग ने घरों से महिलाओं को लात मारकर निकाला. उनके साथ महिला पुलिस होना चाहिए थी. जब मैं वहां पहुंचा तो लोग अधिकारियों पर नाराज थे और उनका पीछा किया. हम पुलिस स्‍टेशन आए हैं अधिकारियों के खिलाफ एफआईआर दर्ज कराने के लिए.

बता दें आकाश विजयवर्गीय इंदौर की विधानसभा सीट-3 से बीजेपी एमएलए है. उनके पिता कैलाश विजयवर्गीय मध्‍य प्रदेश की शिवराजसिंह चौहान सरकार में कैबिनेट रहे हैं और वह वर्तमान में बीजेपी के राष्‍ट्रीय महासचिव और पश्‍चिम बंगाल के प्रभारी हैं.