इंदौर : मध्यप्रदेश में राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ की शाखाओं में सरकारी सेवकों के जाने पर रोक लगाने के कांग्रेस के चुनावी वादे को लेकर सोमवार को नाराजगी जताते हुए लोकसभा में भाजपा के मुख्य सचेतक अनुराग ठाकुर ने नेहरू-गांधी परिवार पर हमला बोला. उन्‍होंने कहा कि कांग्रेस अध्‍यक्ष राहुल गांधी के पुरखे देश में शीर्ष पदों पर रहते हुए आरएसएस की शाखाओं को प्रतिबंधित नहीं कर पाए, तो मध्‍यप्रदेश में यह भला कैसे संभव होगा.

ठाकुर ने यहां राऊ विधानसभा क्षेत्र में भाजपा के मुख्य चुनाव कार्यालय के उद्घाटन समारोह में कहा, “कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी के पूर्वज देश की केंद्रीय सत्ता के बड़े-बड़े पदों पर आसीन रहने के बावजूद संघ की शाखाओं पर प्रतिबंध नहीं लगा सके, तो मध्यप्रदेश में उनकी पार्टी इस संबंध में अपना चुनावी वादा भला कैसे पूरा कर सकेगी. लिहाजा कांग्रेस को संघ की चिंता छोड़ देनी चाहिये.”

मुरैना प्रशासन का अनोखा प्रयास, चम्बल के घड़ियाल मतदाताओं को करेंगे जागरूक

हिमाचल प्रदेश के हमीरपुर से लोकसभा सांसद ने कहा, “वैसे भी यह चुनावी वादा मुंगेरीलाल के हसीन सपने की तरह है, क्योंकि मध्यप्रदेश की सत्ता में आने के कांग्रेस के तमाम प्रयास नाकाम होने वाले हैं.” ठाकुर ने कटाक्ष करते हुए कहा, “देश के कई राज्यों में चुनावी हार के बाद कांग्रेस की दुकानें सिलसिलेवार तौर पर बंद हो चुकी हैं. मध्यप्रदेश में 28 नवंबर को होने वाले विधानसभा चुनावों में भी कांग्रेस की दुकान पर ताला लगने वाला है.”

घोषणा पत्र पर बीजेपी के हमले का कांग्रेस ने दिया जवाब, आरएसएस पर प्रतिबंध लगाने की कोई मंशा नहीं

कांग्रेस ने शनिवार को जारी अपने चुनावी घोषणा पत्र में “सामान्य प्रशासन और प्रशासनिक सुधार” के अध्याय में कहा है कि 28 नवम्बर को होने वाले विधानसभा चुनावों के जरिये सूबे की सत्ता में आने पर शासकीय परिसरों में संघ की शाखाएं लगाने पर प्रतिबंध लगाया जायेगा. इसके साथ ही, सरकारी अधिकारी-कर्मचारियों को इन शाखाओं में हिस्सा लेने की छूट के आदेश को भी रद्द किया जायेगा.