भोपाल: एमपी में कांग्रेस के एक सीनियर नेता ने आरोप लगाया है कि बीजेपी नेता राज्य की कांग्रेस सरकार को गिराने के लिए 100 करोड़ रुपए का प्रलोभन दिया है, वहीं इस आरोप से नाराज बीजेपी नेताओं को कांग्रेस नेता से इसके सबूत मांगे हैं. सियासत में अक्सर अपने बयानों को लेकर विवादों में रहने वाले कांग्रेस के सीनियर नेता दिग्विजय सिंह ने बीजेपी नेताओं पर लगाया है. पूर्व सीएम सिंह ने मध्यप्रदेश में कांग्रेस सरकार गिराने के लिए कांग्रेस के एक विधायक को 100 करोड़ रुपए का प्रस्ताव देने का आरोप लगाया है.

विपक्ष के बहिर्गमन के बीच एनपी प्रजापति बने विधानसभा अध्यक्ष, बीजेपी लेगी कानूनी सलाह

दिग्विजय बोले एमएलए को 100 करोड़ रुपए का लालच दिया
प्रदेश विधानसभा परिसर में सिंह ने मंगलवार को मीडिया से कहा, ”मैहर से भाजपा के विधायक नारायण त्रिपाठी ने मुरैना जिले के संबलगढ़ से कांग्रेस के विधायक बैजनाथ कुशवाह से संपर्क किया और उन्हें एक ढाबे पर ले गए. वहां भाजपा के नेता और पूर्व मंत्री नरोत्तम मिश्रा और विश्वास सारंग ने कुशवाह से मुलाकात की और कांग्रेस की सरकार गिराने के लिए 100 करोड़ रुपए देने का प्रस्ताव दिया. इसके साथ ही दोनों ने भाजपा की बनने वाली नई प्रदेश सरकार में मंत्री पद देने का लालच भी कुशवाह को दिया.

शिमला जा रही हिमालयन क्वीन टॉय ट्रेन में लगी आग, 200 यात्री थे सवार

विधायक को चार्टर प्लेन में चलने के लिए कहा: सिंह
कांग्रेस के कई विधायकों को इस प्रकार का लालच देने का दावा करते हुए सिंह ने कहा कि भाजपा नेताओं ने कुशवाह से तैयार खड़े चार्टर हवाई जहाज में साथ चलने के लिए कहा, लेकिन कुशवाह ने इससे इंकार कर दिया. सिंह ने कहा, ”शिवराज सिंह चौहान विचलित हैं, क्योंकि वह अपनी हार को पचा नहीं पा रहे हैं.

क्या कांग्रेस सरकार विधानसभा अध्यक्ष का चुनाव कराने से डरी, बीजेपी बोली- ये लोकतंत्र की हत्या 

दिग्विजय को छपास का रोग, सबूत हैं कार्रवाई करें: मिश्रा
सिंह के आरोपों के सवाल पर मिश्रा ने कहा, ”वह काफी समय से इस प्रकार के आरोप लगा रहे हैं. छपास रोग के कारण किसी पर अनर्गल आरोप नहीं लगाना चाहिए. मैं किसी ढाबे पर नहीं गया. यदि उनके पास सबूत है तो उन्हें इस मामले में कानूनी कार्रवाई करना चाहिए.

जेटली ने सरकार का रखा पक्ष, सीवीसी की सिफारिश पर छुट्टी पर भेजे गए थे सीबीआई के अफसर 

दिग्विजय के बयान को गंभीरता से नहीं लेना चाहिए: भार्गव
वहीं नेता प्रतिपक्ष एवं भाजपा विधायक गोपाल भार्गव ने दिग्विजय सिंह के बयानों को गंभीरता से नहीं लेने की बात कही. भार्गव ने कहा, ” इतनी बड़ी राशि आपने सूनी नहीं होगी. दिग्विजय के बयान को गंभीरता से नहीं लेना चाहिए. वह गप्पबाजी करते हैं. आप जानते हैं केंद्र में भाजपा की अटल जी की सरकार एक वोट से गिर गई थी. इसलिए भाजपा इस तरह के हथकंडों में विश्वास नहीं करती है.

CISF-CRPF में महिलाओं की भागीदारी जल्द 15% की जाएगी: गृह राज्य मंत्री रिजिजू

कांग्रेस की सरकार है, कार्रवाई करे, वीडियो दिखाए: सारंग
वहीं, विश्वास सारंग ने कांग्रेस नेता को चुनौती दी कि सिंह अपने आरोप साबित करें. सारंग ने कहा,” यह शिगुफेबाजी है. अब वे साबित करें कि हम किसी ढाबे में गए थे. कांग्रेस की सरकार है, कार्रवाई करे. वीडियो दिखाये. अगर यह साबित होता है तो मैं राजनीति छोड़ दूंगा.”

यूपी सरकार ने कुंभ के मद्देनजर गंगा को साफ रखने 91 टेनरियों को बंद करने का दिया आदेश 

गरीब सवर्णों को आरक्षण का समर्थन: सिंह
प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व वाली भाजपा नीत एनडीए सरकार द्वारा सवर्णों में गरीबों को सरकारी नौकरियों में दस प्रतिशत आरक्षण देने के सवाल पर दिग्विजय ने कहा कि इन परिवारों को आरक्षण देने का कांग्रेस हमेशा से समर्थन करती रही है.