भोपाल: राफेल लड़ाकू विमान सौदा मामले में कांग्रेस राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी पर ‘झूठ बोलने का’ आरोप लगाते हुए भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) की मध्य प्रदेश इकाई ने बुधवार को प्रदेशव्यापी धरना दिया और राहुल गांधी से देश की जनता से माफी मांगने की मांग की. ‘राफेल विमान सौदा मामले में कांग्रेस के दुष्प्रचार को लेकर’ भाजपा ने बुधवार को प्रदेश के सभी जिला केंद्रों पर धरना-प्रदर्शन कर राष्ट्रपति के नाम ज्ञापन कलेक्टर को सौंपा.

सीएम कमलनाथ के खिलाफ परिवाद दायर, कहा था- MP के युवा यूपी-बिहार के कारण हैं बेरोजगार

भाजपा के प्रदेशाध्यक्ष राकेश सिंह ने भोपाल में कहा, ‘कांग्रेस ने देश की जनता के समक्ष जो झूठ फैलाने की कोशिश की, उसे देश की सबसे बड़ी अदालत ने भी खारिज कर दिया. यह कांग्रेस के मुंह पर करारा तमाचा है. नैतिकता के आधार पर कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी को देश की जनता से माफी मांगनी चाहिए. प्रदेश अध्यक्ष ने कहा, ‘राहुल गांधी का देश की सुरक्षा को लेकर जो रवैया है, उससे जनता हैरान है. आश्चर्य की बात है कि एक राष्ट्रीय पार्टी के राष्ट्रीय नेता का रवैया देश की सुरक्षा के साथ खिलवाड़ करने वाला है. उन्होंने कहा कि 2002 में राफेल खरीद को लेकर बात शुरू हुई थी, ताकि सेना का मनोबल बढ़े और उसे अत्याधुनिक विमान मिल सकें.

मुख्यमंत्रियों के शपथ ग्रहण समारोह में दिखे दिलचस्प नजारे, ‘मामा’ शिवराज, ‘बुआ’ वसुंधरा ने जीता दिल

2004 में कांग्रेस की सरकार बनी और 2007 में तत्कालीन प्रधानमंत्री मनमोहन सिह ने यह फैसला लिया कि राफेल खरीद की जरूरत है, लेकिन 2007 से लेकर 2014 तक लगातार कांग्रेस की सरकार रहने के बाद भी राफेल खरीद पर सरकार कोई निर्णय नहीं कर पाई. उन्होंने कहा, ‘कांग्रेस की सरकारें राफेल का सौदा क्यों नहीं कर पाईं, यह जनता भलीभांति जानती है. शायद उसे कमीशन नहीं मिल रहा था. कांग्रेस ने जितने भी सौदे किए हैं, उनमें जमकर कमीशनबाजी की है और इसी फेर में राफेल खरीदी का मामला अटकाए रखा.’ उन्होंने कहा कि भाजपा कार्यकर्ता पूरी ताकत और ऊंचे मनोबल के साथ 2019 के लिए कमर कस लें.