नई दिल्ली: मध्यप्रदेश की राजधानी भोपाल में मंगलवार को होने वाले कार्यकर्ता महाकुंभ के लिए राज्यभर से कार्यकर्ता लाने का जिम्मा प्रदेश इकाई को सौंपा गया है, मगर बस ऑपरेटरों ने पुराना बकाया का भुगतान न होने के कारण बसें देने से इनकार कर दिया है. वहीं राज्य के परिवहन मंत्री भूपेंद्र सिंह का कहना है कि बस संचालकों से बातचीत हो गई है. बस ऑपरेटरों के प्रतिनिधि ने संवाददाताओं से चर्चा के दौरान बताया कि पूर्व में आयोजित भाजपा की रैलियों में राज्यभर से बसों में भरकर कार्यकर्ता लाए गए. उसका बकाया लगभग तीन करोड़ 17 लाख रुपये है, मगर उसका भुगतान अब तक नहीं किया गया है. बस ऑपरेटरों ने पहले बकाया के भुगतान की मांग की है.Also Read - PM Modi को जन्मदिन की बधाई देने में गलती कर गए Salman Khan, देखते ही लोगों ने जताई नाराजगी

Also Read - MP: सरकारी स्कूल में चल रही थी दबंग की आटा चक्की, क्‍लास में न टीचर मिले, न छात्र

24 घंटे के अंदर ‘मोदीकेयर’ से 1000 मरीजों को मिला फायदा, छत्तीसगढ़-हरियाणा सबसे आगे Also Read - SCO समिट: PM मोदी ने बढ़ती कट्टरपंथी विचारधारा को लेकर चेताया, अफगानिस्तान का उदाहरण दिया

बस ऑपरेटरों का कहना है कि पूर्व में भी भाजपा और सरकार के कार्यक्रम हुए, जिनमें बस संचालकों को बड़े पैमाने पर नुकसान हुआ है. लिहाजा, बस ऑपरेटर अपनी इस मांग पर अड़े हैं कि पुराना भुगतान किया जाए, उसके बाद ही वे बसों को भोपाल भेजेंगे.राज्य के परिवहन मंत्री भूपेंद्र सिंह ने संवाददाताओं से कहा कि बस ऑपरेटरों से बातचीत हो गई है. समस्या का समाधान कर दिया जाएगा. भाजपा मंगलवार को भोपाल के जम्बूरी मैदान में होने वाले कार्यकर्ता महाकुंभ को विश्व का सबसे बड़ा राजनीतिक आयोजन होने का दावा कर रही है. सवाल यह उठ रहा है कि अगर बसें नहीं मिलीं तो 10 लाख कार्यकर्ता भोपाल कैसे पहुंचेंगे.

राफेल डील: लालू यादव का तंज, जहजवा ही चुराकर खाने लग गए, वो भी लड़ाकू

इस कार्यक्रम में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और पार्टी अध्यक्ष अमित शाह भी शिरकत कर रहे हैं. बीजेपी प्रदेश कार्यालय से दी गई जानकारी के अनुसार, 25 सितंबर को पं. दीनदयाल उपाध्याय की जयंती के मौके पर भोपाल के जम्बूरी मैदान में होने वाले राजनैतिक कार्यकर्ता समागम ‘कार्यकर्ता महाकुंभ’ के लिए ‘अटल महाकुंभ परिसर’ सजकर तैयार है. आयोजन स्थल का रविवार देर शाम को मुख्यमंत्री शिवराज सिह चौहान, केंद्रीय मंत्री नरेंद्र सिह तोमर, पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष राकेश सिह एवं प्रदेश संगठन महामंत्री सुहास भगत ने जायजा लिया.

दूसरी एनिवर्सरी से पहले सेना प्रमुख जनरल बिपिन रावत बोले- एक और सर्जिकल स्ट्राइक की जरूरत

मुख्यमंत्री शिवराज सिह ने कहा,”महाकुंभ कार्यकर्ताओं में ऊर्जा का नया संचार करेगा. वर्ष 2008 और 2013 में भी हमने महाकुंभ का आयोजन कर विजय प्राप्त की थी. इस बार भी कार्यकर्ता महाकुंभ की तैयारी में जुटे हैं. चुनौती बड़ी है, कार्यक्रम बड़ा है इस दृष्टि से हमारी तैयारी भी बड़ी है.पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष राकेश सिह ने बताया कि कार्यकर्ता महाकुंभ में प्रदेश की 230 विधानसभाओं के 65,000 से अधिक मतदान केंद्रों से कार्यकर्ता शामिल होंगे. यह महाकुंभ विचार, तकनीक एवं संख्या की दृष्टि से अनोखा आयोजन है.