मंडला: मध्‍य प्रदेश के मंडला के एक निजी विद्यालय में एक शिक्षक द्वारा सीएए और एनआरसी के समर्थन में विद्यार्थियों को व्याख्यान देने के बाद कांग्रेस की छात्र ईकाई एनएसयूआई के कार्यकर्ताओं ने स्कूल में तोड़फोड़ कर हंगामा मचाया. स्कूल प्रबंधन की शिकायत पर पुलिस मामले की जांच कर रही है. Also Read - LIVE Delhi MCD By-Election Result 2021: दिल्ली उपचुनाव में AAP की शानदार जीत, भाजपा को मिली करारी हार

एसडीओपी एवी सिंह ने शुक्रवार को बताया कि इस मामले में स्थानीय बस स्टैंड के पास स्थित भारत ज्योति स्कूल के प्रबंधन ने शिकायत दर्ज कराई है. उन्होंने बताया, ”स्कूल के प्रबंधक फादर जेम्स डिसूजा ने शिकायत दी है कि एनएसयूआई के कुछ लोगों ने गुरुवार को स्कूल परिसर में तोड़फोड़ और हंगामा किया. शिकायत मिलने पर मामले की जांच की जा रही है.” Also Read - गुजरात निकाय चुनाव में कांग्रेस उम्‍मीदवार को मिली जीत पर जश्न, भीड़ ने घर में घुसकर दलित की हत्या की

एनएसयूआई के जिला अध्यक्ष अखिलेश ठाकुर ने आरोप लगाया कि कक्षा 9 को पढ़ाने वाले एक शिक्षक ने बुधवार को विद्यार्थियों को बताया कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने संशोधित नागरिकता कानून (सीएए) और राष्ट्रीय नागरिक पंजी (एनआरसी) जैसा अच्छा कानून देश में बनाया है. Also Read - Sex Scandal video पर घिरे Karnataka के मंत्री रमेश जारकीहोली ने कहा- आरोप साबित हुए तो राजनीति छोड़ दूंगा

एनएसयूआई के जिला अध्यक्ष ठाकुर ने बताया, ” शिक्षक ने बुधवार को पहले कक्षा में पूछा की कि किसी समुदाय विशेष का कोई विद्यार्थी तो नहीं है. इसके बाद शिक्षक ने बताया कि मोदी सरकार देश में सीएए और एनआरसी लाई है. इस विशेष समुदाय के लोगों को देश से बाहर निकाल देना चाहिए.”

ठाकुर ने बताया कि कुछ अभिभावकों ने इस सबंध में हमसे शिकायत की. इसके बाद गुरुवार को हम स्कूल प्रबंधन से बात करने और शिक्षक के बारे में उन्हें सूचित करने गए थे. उन्होंने कहा कि स्कूल शिक्षा का मंदिर है. एक विशेष समुदाय से अलगाव के बारे में पढ़ाने वाले शिक्षक के कृत्य की हम निंदा करते हैं और इसकी जांच की मांग करते हैं.

वहीं, दूसरी ओर स्कूल के प्रबंधक जेम्स डिसूजा ने कहा, मैं स्कूल परिसर में तोड़तोड़ की घटना की निंदा करता हूं. हमने पुलिस को शिकायत सौंप दी है और जांच की मांग की है.