इंदौर: देश में कोविड-19 से सबसे ज्यादा प्रभावित जिलों में शामिल इंदौर में इस महामारी के मरीजों की संख्या में पिछले एक हफ्ते के दौरान उछाल के मद्देनजर प्रशासन ने पाबंदियों की डोर कसनी शुरू कर दी है. अधिकारियों ने बताया कि जिलाधिकारी मनीष सिंह के बृहस्पतिवार से लागू आदेश के मुताबिक शादी समारोहों और शवयात्राओं में अब अधिकतम 20-20 लोग शामिल हो सकेंगे. जन्मदिन और शादी की सालगिरह की पार्टियां संबंधित मेजबानों के घरों में ही आयोजित की जा सकेंगी और इनमें अधिकतम 10 मेहमानों को बुलाया जा सकेगा. Also Read - महाराष्ट्र के डिप्टी CM अजीत पवार कोरोना वायरस से संक्रमित, मुंबई के अस्पताल में कराया गया भर्ती

Lockdown in Indore Latest News Also Read - India Covid-19 Updates: देश में थम रही कोरोना की रफ्तार! कई महीनों बाद 500 से कम मौतें, संक्रमितों का आंकड़ा 79 लाख के पार

उन्होंने बताया कि जिला प्रशासन ने आगामी त्योहारों से पहले सार्वजनिक स्थानों पर धार्मिक आयोजनों और मूर्तियों व झांकियों की स्थापना पर प्रतिबंध लगा दिया है. आम लोगों को अपने घरों में ही पूजा-पाठ करने और त्योहार मनाने की सलाह दी गयी है. Also Read - आरबीआई गवर्नर शक्तिकांत दास कोरोना वायरस से संक्रमित, बोले- लोगों से अलग रह कर काम जारी रखूंगा

Indore lockdown update Guidelines

इस बीच, इंदौर के मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी (सीएमएचओ) प्रवीण जड़िया ने बताया कि जिले में पिछले 24 घंटों के दौरान कोविड-19 के 136 नए मामले मिलने के बाद इस महामारी के मरीजों की कुल तादाद बढ़कर 5,632 पर पहुंच गई है.

उन्होंने यह भी बताया कि जिले में अब तक कुल 280 मरीज कोरोना वायरस संक्रमण की चपेट में आकर दम तोड़ चुके हैं, जबकि 4,087 लोग इलाज के बाद इस संक्रमण से मुक्त हो चुके हैं. जिले में कोविड-19 के प्रकोप की शुरूआत 24 मार्च से हुई, जब पहले चार मरीजों में इस महामारी की पुष्टि हुई थी.

देश में कोरोना का प्रकोप पहले से ज्यादा खतरनाक हो गया है. पिछले कई दिनों से देश देश में रोजाना 25 हजार से अधिक कोरोना के मामले आ रहे थे. आज यह संख्या 30 हजार को पार कर गई है. कोरोना के बढ़ते प्रकोप के कारण कई राज्यों ने एक बार फिर से लॉकडाउन की तरफ रुख किया है.