भोपाल: मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री कमलनाथ ने बुधवार को भाजपा पर आरोप लगाया कि पिछले कई दिन से वह माफिया के साथ मिलकर प्रदेश सरकार को अस्थिर करने का असफल प्रयास कर रही है. साथ ही उन्होंने दावा किया कि राज्य की कांग्रेस सरकार के पास पूर्ण बहुमत है. प्रदेश कांग्रेस के मीडिया समन्वयक नरेन्द्र सलूजा के जरिए मीडिया को जारी बयान में कमलनाथ ने आज कहा, ‘‘भारतीय जनता पार्टी पिछले कई दिन से माफिया के साथ मिलकर राज्य की कांग्रेस सरकार को अस्थिर करने का असफल प्रयास कर रही है. हमें हमारे सभी विधायकों पर पूरा विश्वास है, उनकी निष्ठा- ईमानदारी पर हमें कोई संदेह नहीं है.’’ Also Read - नवजोत सिंह सिद्धू फिर बदलेंगे पार्टी! पंजाब में चुनाव से पहले कांग्रेस छोड़ थाम सकते हैं इस दल का दामन

प्रदेश सरकार के पास पूर्ण बहुमत का दावा करते हुए उन्होंने कहा, ‘‘इसे हमने विधानसभा में अध्यक्ष, उपाध्यक्ष के चुनाव में और बजट पारित करवा कर साबित किया है. भाजपा को हर बार मुंह की खानी पड़ी है. हर बार की तरह इस बार भी भाजपा के मंसूबे मुंगेरीलाल के सपने ही साबित होंगे.’’ मुख्यमंत्री ने कहा कि हमारी सरकार भाजपा के संरक्षण में पिछले 15 साल में पनपे भू-माफिया, संगठित अपराध माफिया और नकली दवा व्यापार के खिलाफ जो अभियान चला रही है वह भाजपा को रास नहीं आ रहा है. भाजपा माफिया के धनबल के दम पर षड्यंत्र रच कर अलोकतांत्रिक तरीके से सत्ता में आने का मंसूबा पाल रही है. उन्होंने कहा कि भाजपा को लोकतंत्र में विश्वास नहीं है, उनका विश्वास षड्यंत्र और धनबल में है. Also Read - बीजेपी विधायक ने मजदूरों की वापसी के लिए सोनू सूद से मांगी मदद, मिला ऐसा जवाब

उन्होंने आरोप लगाया कि भाजपा ने गोवा, कर्नाटक, महाराष्ट्र, हरियाणा सहित कई राज्यों में लोकतंत्र और संवैधानिक मूल्यों की हत्या करने का काम किया है. वह मध्य प्रदेश में भी वही दोहराना चाहती है. कमलनाथ ने कहा कि भाजपा को डर है कि किसानों की कर्जमाफी, बेरोजगारों को रोजगार देने की कोशिशों और प्रदेश में बढ़ते निवेश से उसका जनाधार निरंतर खिसक रहा है. वह डर रही है कि अगले पांच साल में अपनी उपलब्धियों के बूते पर कांग्रेस जनता का विश्वास फिर से हासिल कर लेगी. मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रदेश की तस्वीर बदलना, माफिया मुक्त बनाना और प्रदेश को नई ऊंचाइयों पर ले जाना हमारा लक्ष्य है. प्रदेशवासी इस सच्चाई को जानते हैं और भाजपा के इन कृत्यों को देख रहे हैं. वक्त आने पर इसका जवाब भी देंगे. Also Read - धरना दे रहे BJP नेता हिरासत में, दिल्ली सरकार से मांग रहे थे विज्ञापनों का हिसाब