जबलपुर: शहर के बेलबाग थानाक्षेत्र में बीती रात कांग्रेस और भाजपा समर्थकों के बीच हिंसक झड़प हो गई जिस दौरान गोली लगने से तीन युवक घायल हो गए. उन्हें उपचार के लिए अस्पताल में भर्ती किया गया है. स्थिति को नियंत्रित करने के लिए पुलिस को लाठी चार्ज करना पड़ा तथा आंसू गैस के गोले भी छोडऩे पड़े. Also Read - जब ऑक्सीजन टैंकर की पूजा करने में लग गए बीजेपी नेता और मंत्री, कांग्रेस ने बोला हमला

Also Read - बीजेपी चलाएगी 'अपना बूथ, कोरोना मुक्त' अभियान, JP Nadda ने दिए निर्देश

बेलबाग थाना प्रभारी दीपक जोशी ने यहां बताया कि बीती रात कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने लोगों को साड़ियां बांटे जाने की शिकायत की थी. इसकी जांच के लिए चुनाव आयोग की टीम आई थी और पुलिस उनके सहयोग के लिए पहुंची थी. चुनाव आयोग की टीम जांच के बाद वापस चली गई. उन्होंने बताया कि रात में लगभग साढ़े दस बजे दोनों दलों के समर्थक थाने के बाहर एकत्र होने लगे और तनाव की स्थिति बन गई. पुलिस ने उन्हें समझाने का प्रयास किया परंतु उनके बीच हिंसक टकराव हो गया. दोनों पक्षों ने एक दूसरे पर पथराव और गोलीबारी की. Also Read - COVID-19: कोरोना के चलते बीजेपी के पूर्व राष्‍ट्रीय अध्यक्ष के दो भतीजों ने दम तोड़ा

कमलनाथ के वीडियो पर पीएम मोदी का कमेंट, भड़की कांग्रेस ने चुनाव आयोग से की शिकायत

उन्होंने बताया कि गोली लगने से भाजपा कार्यकर्ता विश्वास सोनकर तथा कांग्रेस कार्यकर्ता तपन जैन तथा मनीष सेन घायल हुए हैं. दोनों पक्षों के लोगों ने थाने के अंदर भी एक-दूसरे पर हमले का प्रयास किया. स्थिति की गंभीरता को देखते हुए अन्य थानों से अतिरिक्त बल बुलाया गया. हालात काबू करने के लिए पुलिस ने लाठी चार्ज किया और आंसू गैस के गोले छोड़े. करीब आधे घंटे में स्थिति नियंत्रित हो गई.

जोशी ने बताया कि पुलिस ने कांग्रेस प्रत्याशी के भाई जय घनघोरिया, भरत घनघोरिया, भाजपा प्रत्याशी के बेटे राजा और राम सहित दोनों पक्षों के करीब 25 लोगों के खिलाफ हत्या के प्रयास, बलवा, शासकीय कार्य में बाधा डालने सहित पांच अपराधिक प्रकरण दर्ज किए हैं. लगभग डेढ़ दर्जन लोगों को गिरफ्तार भी किया गया है.