नई दिल्ली: कांग्रेस ने मध्य प्रदेश में कम से कम 80 विधानसभा सीटों के लिए अपने उम्मीदवारों के नामों को बुधवार को अंतिम रूप दे दिया, लेकिन उनमें से किसी के नाम की घोषणा अभी नहीं की है. पार्टी सूत्रों ने यह जानकारी दी. राज्य में विधानसभा चुनावों के लिए अन्य उम्मीदवारों के नामों पर फैसला करने के लिए सीईसी की एक अन्य बैठक जल्द ही होगी Also Read - भाजपा शासित राज्यों ने कोविड-19 के की लड़ाई में आत्मसमर्पण कर दिया है : कांग्रेस

पार्टी के शीर्ष सूत्रों ने बताया कि कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने नई दिल्ली में कांग्रेस चुनाव समिति (सीईसी) की एक बैठक की अध्यक्षता की. बैठक में मध्य प्रदेश के शीर्ष नेता मौजूद थे और 28 नवंबर को होने वाले विधानसभा चुनाव के लिए उम्मीदवारों पर चर्चा की गई. Also Read - मीडिया पर भड़के राहुल गांधी, बोले- अपने मालिकों को खुश करने के लिए सच के साथ करते हैं खिलवाड़

समझा जाता है कि राज्य में विधानसभा चुनावों के लिए अन्य उम्मीदवारों के नामों पर फैसला करने के लिए सीईसी की एक अन्य बैठक जल्द ही होगी. मध्य प्रदेश में विधानसभा की कुल 230 सीटें हैं. Also Read - सत्ता के लालची लोग महाराष्ट्र सरकार को अस्थिर करने की लगातार कोशिश कर रहे हैं : कांग्रेस

कांग्रेस मध्य प्रदेश में बीजेपी को सत्ता से बेदखल करना चाहती है. भगवा पार्टी इस राज्य में पिछले 15 साल से सत्ता में काबिज है. लेकिन कांग्रेस के भीतर हराने-जिताने का खेल जारी है. पार्टी के भीतर चुनाव से पहले ही हराने और जिताने का खेल तेज हो गया है. नेताओं की आपस में लामबंदी जारी है. एक तरफ प्रदेशाध्यक्ष कमलनाथ, पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह, नेता प्रतिपक्ष अजय सिंह खड़े हैं, तो दूसरी ओर प्रचार अभियान समिति के अध्यक्ष ज्योतिरादित्य सिंधिया हैं, जिन्हें परोक्ष रूप से पार्टी अध्यक्ष राहुल गांधी का साथ हासिल है.