भोपाल: मध्य प्रदेश की सड़कों की तुलना भाजपा महासचिव कैलाश विजयवर्गीय के गालों से करने वाले मंत्रियों के बयान पर पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने पलटवार किया है और कहा है कि यह बयान कांग्रेसियों की मानसिकता दर्शाता है. बारिश के चलते राजधानी सहित राज्य के अन्य हिस्सों की सड़कों पर जगह-जगह गड्ढे हो गए हैं, कई स्थानों पर हादसे भी हुए हैं. इसी के चलते राज्य के जनसंपर्क मंत्री पी. सी. शर्मा और लोकनिर्माण मंत्री सज्जन सिंह वर्मा ने मंगलवार को राजधानी की सड़कों का जायजा लिया.

इस दौरान शर्मा ने कहा, ये वॉशिंगटन और न्यूयार्क जैसी सड़कें कैसी थीं? पानी गिरा जमकर और गड्ढे ही गड्ढे हो गए. कैलाश विजयवर्गीय के गालों जैसी हो गई हैं, 15-20 दिन में सड़कें चकाचक हेमामालिनी के गालों जैसी हो जाएंगी. वहीं, लोकनिर्माण मंत्री वर्मा ने बात को आगे बढ़ाया और कहा, पूर्व मुख्यमंत्री चौहान सड़कों को हेमामालिनी के गालों जैसा बनाने निकले थे, लेकिन ये सड़कें तो विजयवर्गीय के गालों जैसी हो गई हैं.

अगर चाहता तो पहले ही जोड़-तोड़ कर फिर मध्‍य प्रदेश का सीएम बन जाता: शिवराज

मंत्रियों के इस बयान पर पूर्व मुख्यमंत्री चौहान ने प्रतिक्रिया व्यक्त की है, साथ ही मंत्रियों की गंभीरता भी सवाल उठाए है. उन्होंने बुधवार को सड़कों की तुलना गालों से किए जाने के सवाल पर कहा, इनकी गंभीरता यह है, ये मंत्री हैं, जो सड़कों की तुलना गालों से करते हैं. इसी से सिद्घ होता है कि कांग्रेसियों की मानसिकता क्या है.

ज्ञात हो कि, बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री लालू यादव ने भी कभी सड़कों की तुलना हेमा मालिनी के गालों से की थी. वहीं, पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने मध्य प्रदेश की सड़कों को वॉशिंगटन से बेहतर बताया था.

(इनपुट-आईएएनएस)