नई दिल्लीः मध्य प्रदेश में सरकार के खिलाफ धीरे धीरे सुर तेज होते जा रहे है. राज्य सरकार के लिए सबसे बड़ी परेशानी यह है कि उसका विरोध कोई और नहीं बल्कि खुद की पार्टी के नेता ही कर रहे हैं. कमलनाथ सरकार के विरुद्ध इस बार ग्वालियर पूर्व से विधायक मुन्नालाल गोयल ने मोर्चा खोला है. गोयल ने सरकार पर आरोप लगाया है कि सरकार ने जो वादे किए थे उससे वह मुकर रही है और विधायकों की बात की अनदेखी की जा रही है. मुन्नालाल गोयल ने शनिवार को सरकार के खिलाफ विधानसभा के बाहर धरना भी दे दिया. Also Read - मिसाल: पांचवीं तक पढ़ी मोबिना ने पढ़ाया IAS अफसरों को पाठ

विधायक मुन्नालाल ने सरकार के खिलाफ लगभग एक घंटे तक धरना प्रदर्शन किया. उन्होंने इस प्रदर्शन से एक दिन पहले ही इस घोषणा कर दी थी. इस संबंध में उन्होंने कहा था कि ‘‘मैं शनिवार को सुबह 11 बजे से दोपहर 12 बजे तक राज्य विधानसभा परिसर में महात्मा गांधी की प्रतिमा के सामने धरना दूंगा. मैंने पार्टी के चुनावी घोषणा पत्र में किए गए वादों को पूरा न करने और मेरे विधानसभा क्षेत्र में विकास कार्यों की अनदेखी करने के बारे में मुख्यमंत्री को पत्र भी लिखा है.’’ Also Read - Love Jihad: उमेश से मंदिर में की लव मैरिज, मां बनने के बाद पता चल पाया कि वह है सलमान

कांग्रेस विधायक ने कहा, ‘‘ मैंने राज्य सरकार एवं अधिकारियों द्वारा अपने विधानसभा क्षेत्र की अनदेखी करने के विरोध में शुक्रवार को विधानसभा के विशेष सत्र की कार्यवाही का बहिष्कार भी किया.’’ उन्होंने सीधे तौर पर सीएम कमलनाथ पर भी आरोप लगाया. उन्होंने कहा कि राज्य में मुखिया और विधायकों के बीच संवाद पूरी तरह से खत्म हो गया है, जरूरी है कि सीएम समय निकाल कर विधायकों से बात करें ताकि उनके इलाकों की समस्याओं का भी निवारण हो सके. Also Read - Love Jihad : उमेश बनकर की थी लव मैरिज, निकला सलमान तो धर्म परिवर्तन के लिए बनाने लगा दबाव


उन्होंने कहा, ‘‘कांग्रेस ने गरीबों को पट्टे देने का वादा किया था. इसके विपरीत प्रशासन ने इस कड़ाके की ठंड के मौसम में मेरे निर्वाचन क्षेत्र के करीब 400 परिवारों को बेघर कर दिया है. इस सरकार में नौकरशाही सरकार पर हावी हो गई है.’’ गोयल ने कहा, ‘‘मैं पिछले छह महीने से अपने निर्वाचन क्षेत्र के मुद्दों को लेकर मंत्रियों और मुख्यमंत्री को पत्र लिख रहा हूं. मैंने कई समस्याओं का भी जिक्र किया. लेकिन उन पर अब तक कोई ध्यान नहीं दिया गया है.’’

मध्यप्रदेश कांग्रेस प्रवक्ता पंकज चतुर्वेदी ने कहा,‘‘ गोयल निर्वाचित प्रतिनिधि हैं और प्रशासन और मंत्रियों को गोयल के विधानसभा क्षेत्र की समस्याओं पर कार्रवाई करनी चाहिए. मुझे उम्मीद है कि मुख्यमंत्री और अन्य मंत्री जल्द ही इन मुद्दों को सुलझा लेंगे.’’ इसी बीच, मध्यप्रदेश भाजपा प्रवक्ता रजनीश अग्रवाल ने कहा, ‘‘सत्तारूढ़ कांग्रेस के कई विधायक राज्य सरकार के कामकाज को लेकर खुलकर अपनी नाराजगी जाहिर कर रहे हैं.