मध्य प्रदेश की राजधानी भोपाल में कोरोना से मौत के आंकड़े में गड़बड़ी के दावे किए जा रहे हैं. समाचार एजेंसी पीटीआई की रिपोर्ट के मुताबिक राजधानी के दो श्मशान घाटों और एक कब्रिस्तान में बुधवार को 137 शवों का अंतिम संस्कार किया गया लेकिन सरकारी आंकड़े में बुधवार को केवल 5 मरीजों की मौत कोरोना की वजह से हुई थी.Also Read - बहन के प्रेमी को भाई ने ऑटो से मारी टक्कर, बच गई जान-Watch Video

भोपाल स्थित इन दो विश्रामघाटों एवं एक कब्रिस्तान के रिकॉर्ड के अनुसार इनमें बुधवार को कुल 187 लोगों का अंतिम संस्कार किया गया. इनमें से 137 शवों को अंतिम संस्कार कोविड-19 के प्रोटोकॉल के मुताबिक किया गया. Also Read - MP News: मध्य प्रदेश के गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा ने ZOMATO पर तरेरी आंख, कहा-10 मिनट में खाना पहुंचाते हो, इसमें खतरा है

हालांकि, बुधवार शाम को जारी मध्य प्रदेश सरकार की कोविड-19 बुलेटिन के अनुसार 24 घंटे के दौरान भोपाल में पांच लोगों की कोरोना वायरस संक्रमण से हुई. Also Read - MP Covid-19 Update: मध्य प्रदेश में कोरोना के 7,359 नए मामलों की पुष्टि, छह की मौत

भदभदा विश्राम घाट प्रबंधन समिति के सचिव मम्तेश शर्मा ने ‘पीटीआई-भाषा’ को बताया, ‘‘भदभदा विश्राम घाट में बुधवार को कुल 111 शवों का अंतिम संस्कार किया. इनमें से 92 शवों का अंतिम संस्कार कोविड-19 के प्रोटोकॉल के मुताबिक किया गया.’’ उन्होंने कहा कि जिन 92 शवों का अंतिम संस्कार कोविड-19 के प्रोटोकॉल के मुताबिक किया गया, उनमें से 61 भोपाल के निवासी थे, जबकि 31 अन्य जिलों के थे.

भदभदा विश्राम घाट प्रदेश की राजधानी भोपाल में हिन्दुओं के बड़े श्मशान घाटों में से एक है.

शर्मा ने बताया कि जो लोग अन्य जिलों से भोपाल में इलाज करवाने आते हैं और उपचार के दौरान उनकी मौत होने पर, उनका अंतिम संस्कार भोपाल में ही किया जा रहा है. कोरोना के लिए बनाये गये दिशा निर्देशों के अनुसार उनके शवों को दूसरे जिले में नहीं ले जाया जा सकता है.

उन्होंने कहा कि कोरोना वायरस महामारी से पहले भदभदा विश्राम घाट में प्रतिदिन करीब 10 से 12 शव ही अंतिम संस्कार के लिए जाये जाते थे.

भोपाल में भदभदा विश्राम घाट, सुभाष नगर विश्राम घाट एवं झदा कब्रिस्तान जहांगीराबाद में ही कोविड-19 के मरीजों का अंतिम संस्कार करने की अनुमति है.

वहीं, शहर के सुभाष नगर विश्राम घाट के प्रबंधक शोभराज सुखवानी ने बताया कि इस विश्राम घाट में बुधवार को 56 शवों का अंतिम संस्कार किया गया.

उन्होंने कहा, “इन शवों में से 31 शवों का अंतिम संस्कार कोविड-19 के प्रोटोकॉल के मुताबिक किया गया, जिनमें से 20 भोपाल के रहने वाले थे एवं बाकी 11 अन्य जिलों के थे.” झदा कब्रिस्तान जहांगीराबाद के प्रबंधन समिति के अध्यक्ष रेहान गोल्डन ने बताया, ‘‘बुधवार को हमारे (मुस्लिम) कब्रिस्तान में कुल 20 शव दफनाये गये.

इनमें से 14 को कोविड-19 के प्रोटोकॉल के मुताबिक दफनाया गया, ये सभी लोग भोपाल के निवासी थे.’’ भोपाल जिले के मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. प्रभाकर तिवारी से कोविड-19 के मौतों के कम आंकड़ों एवं भारी तादात में शवों के बारे में प्रतिक्रिया जानने के लिए फोन पर संपर्क किया गया, लेकिन संपर्क नहीं हो पाया.