Corona Virus Cases In Indore: देश में कोरोना से सबसे ज्यादा प्रभावित शहरों में से एक इंदौर ने इस संक्रमण पर अब करीब-करीब पूरी तरह काबू पा लिया है. हालांकि शहर में अब संभावित तीसरी लहर के खतरे से निपटने की तैयारी चल रही है. इंदौर स्वास्थ्य विभाग को पिछले 24 घंटों के दौरान केवल एक नया संक्रमित केस मिला है.Also Read - क्या मध्य प्रदेश में तीसरी लहर दे रही दस्तक? राज्य में मिलने लगे नए केस, सरकार सतर्क

यह दैनिक आधार पर महामारी के नये मरीजों का गत 16 महीनों का सबसे कम आंकड़ा है. कोविड-19 की रोकथाम के लिए नोडल अधिकारी डॉ. अमित मालाकार ने शुक्रवार को बताया, “हमें पिछले 24 घंटे में 8,923 नमूनों की जांच में केवल एक नया संक्रमित मिला है.” Also Read - देश में अब तक 46.72 करोड़ से ज्यादा कोविड टीके की खुराक दी गई: केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय

उन्होंने कहा कि कोविड-19 की दूसरी लहर का प्रभाव घटने और बढ़ते टीकाकरण से जिले में महामारी के नये मामले इकाई अंक पर सिमट गए हैं. Also Read - दिल्ली में अब तक करीब 98 लाख कोरोना की खुराकें दी गईं, जानें क्या है वैक्सीनेशन की स्थिति

मालाकार ने बताया कि जिले में फिलहाल कोविड-19 के 61 मरीजों का उपचार चल रहा है. नोडल अधिकारी ने हालांकि कहा, “कोविड-19 के मामले घटने से स्थानीय लोगों को कोई खुशफहमी नहीं पालनी चाहिए क्योंकि महामारी से बचाव के दिशा-निर्देशों के उल्लंघन की स्थिति में इसकी तीसरी लहर का खतरा अब भी बना हुआ है. हम इस खतरे से निपटने के लिए जरूरी तैयारियां कर रहे हैं.”

अधिकारियों ने बताया कि इंदौर जिले में कोविड-19 के प्रकोप की शुरुआत 24 मार्च 2020 से हुई, जब पहले चार मरीजों में महामारी की पुष्टि हुई थी.

अधिकारियों के मुताबिक करीब 35 लाख की आबादी वाले जिले में गुजरे 16 महीनों के दौरान कोविड-19 के करीब 1.53 लाख मरीज मिले हैं. इनमें से 1,391 लोगों की इलाज के दौरान मौत हो चुकी है.