Madhya Pradesh News: कोरोना योद्धा पिता की बेटी भी अब पुलिस विभाग को अपनी सेवाएं देगी. 23 साल की फाल्गुनी पाल (Falguni Pal) को मध्य प्रदेश सरकार ने सब इंस्पेक्टर बना दिया है. फाल्गुनी के पिता यशवंत पाल (Yashwant Pal) की कोरोना से जान चली गई थी. उन्हें कोरोना ड्यूटी के दौरान हुआ था. फाल्गुनी की तस्वीर सोशल मीडिया पर वायरल हुई थी, जिसमें वह पिता की तस्वीर से लिपटकर रो रही थीं. वह इस पीपीई किट में थीं. Also Read - दिल्ली में कोरोना का नया रिकॉर्ड, 1 दिन में 1163 नए मामले सामने आए

उज्जैन के नीलगंगा पुलिस थाने के प्रभारी निरीक्षक यशवंत पाल (59) कोरोना वायरस प्रभावित इलाकों में ड्यूटी के दौरान कोविड-19 से संक्रमित हो गए थे. और बाद में इन्दौर में निजी अस्पताल में इलाज के दौरान पिछले माह उनका निधन हो गया था. जनसंपर्क विभाग के अधिकारियों ने शनिवार को बताया कि प्रदेश के गृह तथा लोक स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्री डॉ. नरोत्तम मिश्रा ने उज्जैन की फाल्गुनी पाल से वीडियो कॉलिंग द्वारा बात कर सब इंस्पेक्टर बनने पर शुभकामनाएं दी. Also Read - Lockdown 5.0: मध्य प्रदेश में 15 जून तक बढ़ाया गया लॉकडाउन, 13 जून के बाद खोले जाएंगे स्कूल

मंत्री डॉ. नरोत्तम मिश्रा ने कहा कि मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के निर्देशानुसार गृह विभाग द्वारा उन्हें सब इंस्पेक्टर के पद पर अनुकंपा नियुक्ति दी गई है. अगले सप्ताह वह अपने कर्तव्य पर उपस्थित होकर अपने परिवार की जिम्मेदारी के साथ समाज, प्रदेश वासियों की सेवा और विभागीय दायित्वों के साथ जिम्मेदारियों का निर्वाहन प्रारंभ कर सकती हैं. मिश्रा ने बताया कि कोविड-19 के संकट काल में उज्जैन के नीलगंगा थाने में पदस्थ रहे थाना प्रभारी यशवंत पाल अपने कर्तव्य का निर्वहन करते हुए शहीद हो गए. मुख्यमंत्री चौहान के निर्देशानुसार उनकी पुत्री फाल्गुनी पाल को अनुकंपा नियुक्ति दी गई है. Also Read - वैज्ञानिकों ने किया खुलासा, बताया आखिर किस तरह से जानवर से मनुष्य में पहुंचता है कोरोना वायरस