Coronavirus Cases In Indore: देश में कोविड-19 से सबसे ज्यादा प्रभावित जिलों में शामिल इंदौर में यह घातक महामारी तेजी से फैल रही है और लगातार पांचवें दिन 100 से ज्यादा नये संक्रमित मिलने से आम-ओ-खास की चिंताएं बढ़ गयी हैं. Also Read - Covid-19 in Indore: इंदौर में कोरोना ने बढ़ाई रफ्तार, एक दिन में सर्वाधिक 247 लोग वायरस से हुए संक्रमित

स्वास्थ्य विभाग के एक अधिकारी ने सोमवार को बताया कि जिले में 15 जुलाई से लेकर 19 जुलाई के बीच कोविड-19 के क्रमशः 136, 129, 145, 129 और 120 मरीज मिले हैं. इनमें ग्रामीण क्षेत्रों के मरीज भी शामिल हैं. Also Read - Coronavirus in Indore: एमपी में कोरोना का हॉट जोन बना इंदौर, संक्रमितों से संख्या दस हजार के पार

उन्होंने बताया कि इन नये मामलों के बाद जिले में गुजरे चार महीने के दौरान संक्रमितों की कुल तादाद बढ़कर 6,155 पर पहुंच गयी है. Also Read - Coronavirus outbreak: इस शहर में कोरोना का संक्रमण पहुंच सकता है अपने उच्चतम स्तर पर, 10 हजार बिस्तरों की तैयारी शुरू

अधिकारी ने बताया कि इस अवधि में जिले में 295 मरीज कोरोना वायरस संक्रमण की चपेट में आकर दम तोड़ चुके हैं, जबकि 4,292 लोग इलाज के बाद संक्रमण से मुक्त हो चुके हैं.

स्वास्थ्य विभाग का अनुमान है कि जिले में कोरोना वायरस संक्रमण जुलाई के अंत या अगस्त की शुरूआत में अपने उच्चतम स्तर पर पहुंच सकता है.

इस बीच, इंदौर संभाग के आयुक्त (राजस्व) पवन कुमार शर्मा ने कहा, “हमें पहले से अंदाजा था कि लॉकडाउन खत्म होने के बाद अलग-अलग गतिविधियां बहाल होने से इंदौर जिले में कोरोना वायरस संक्रमण तेजी से फैल सकता है. हम इसे रोकने के लिये जरूरी कदम उठा रहे हैं.”

उन्होंने कहा, “यह हमारे लिये संतोष की बात है कि अब जिले में पहले के मुकाबले मरीजों की जल्द पहचान कर उन्हें तुरंत अस्पतालों में भर्ती कराया जा रहा है. इससे हाल के दिनों में महामारी से मरीजों की मौत की संख्या घटी है.”

बहरहाल, सरकारी आंकड़े तसदीक करते हैं कि जिले में कोविड-19 के मरीजों की मृत्यु दर लम्बे समय से राष्ट्रीय औसत के मुकाबले ज्यादा बनी हुई है. हालांकि, हाल के दिनों में इस दर में मामूली गिरावट दर्ज की गयी है.

आंकड़ों के विश्लेषण से पता चलता है कि सोमवार सुबह 2.46 प्रतिशत के राष्ट्रीय औसत के मुकाबले जिले में कोविड-19 के मरीजों की मृत्यु दर 4.79 फीसद के स्तर पर थी.