भोपाल: दिल्ली के निजामुद्दीन में तबलीगी जमात के हुए कार्यक्रम के बाद देशभर में कोरोना पीड़ितों की संख्या में लगातार वृद्धि देखी जा रही है. देश के प्रत्येक राज्य में इनसे जुड़े संक्रमण के मामले तेजी से सामने आ रहे हैं. मध्यप्रदेश की राजधानी भोपाल में कोरोना वायरस से एक और व्यक्ति की मौत हो गई है. इसके बाद राज्य में मरने वालों की संख्या 14 हो गई है. यह जानकारी अधिकारियों ने सोमवार को दी. वहीं सरकार ने पूरे राज्य में लॉकडाउन लगा दिया है. लॉकडाउन के दौरान राज्य में दूध और दवा के अलावे कोई दुकान नहीं खुलेगी. Also Read - अमेरिका में कोरोना वायरस से 1,00,000वें व्यक्ति की मौत, 500 से अधिक भारतीय भी हुए आकाल मौत के शिकार

इससे पहले मध्य प्रदेश की राजधानी भोपाल में तबलीगी जमात के 12 सदस्यों सहित संक्रमण के 23 नए मामले सामने आने के बाद कुल मरीजों की संख्या बढ़ कर 40 हो गई थी. भोपाल जिले के मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी (सीएमएचओ) सुधीर कुमार डेहरिया ने बताया था कि भोपाल में रविवार को 23 और मरीज कोरोना वायरस से संक्रमित पाए गए हैं. इसी के साथ शहर में मरीजों की संख्या 40 पहुंच गई है. इनमें से एक पत्रकार एवं उसकी लंदन से आई बेटी ठीक होकर अपने घर चले गए हैं. Also Read - अम्फान प्रभावितों की मदद को आगे आया KKR, किया इस नेक काम का वादा

उन्होंने कहा कि जो लोग आज संक्रमित पाए गए हैं, उनमें स्वास्थ्य विभाग के कर्मचारी और जमात के कार्यक्रम में भाग लेने वाले लोग हैं. इसी बीच, जनसंपर्क विभाग के एक अधिकारी ने बताया कि आज आए 23 कोरोना वायरस संक्रमितों में से 12 लोग जमात के सदस्य हैं. उन्होंने कहा कि ये 12 लोग या तो दिल्ली के निजामुद्दीन में तबलीगी जमात के कार्यक्रम में शामिल हुए थे या उनके संपर्क में आए थे. Also Read - Coronavirus In India Update: कोरोना ने ढाया कहर, 24 घंटे में कुल 194 लोगों की हुई मौत, इन राज्यों का बुरा हाल

मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने रविवार को कहा था कि प्रदेश में कोरोना वायरस को समुदाय में फैलने से रोकने के लिए प्रदेश के सभी 52 जिलों में लॉकडाउन का कड़ाई से पालन करवाया जाए. चौहान ने प्रदेश में कोरोना वायरस की स्थिति एवं व्यवस्थाओं पर उच्चाधिकारियों के साथ मंत्रालय में वीडियो कॉन्फ्रेंस के माध्यम से समीक्षा करते हुए कहा था कि प्रदेश में कोरोना का कम्युनिटी स्प्रेड रोकने के लिए यह आवश्यक है कि लॉकडाउन का कड़ाई से पालन सुनिश्चित हो.