भोपाल: मध्य प्रदेश के दतिया जिले में एक दंपति को उनके बेटे की हत्या करने के आरोप में पुलिस ने गिरफ्तार किया है. इस हत्या में शामिल दंपति के छोटे बेटे को भी गिरफ्तार किया गया. जानकारी के अनुसार बताया जा रहा है कि दंपति के बेटे ने अपनी बहन, भाभी और भतीजी के साथ बलात्कार किया था. इसकी वजह से उसकी हत्या कर दी गई.

दतिया की एसडीओपी गीता भारद्वाज ने कहा कि 24 वर्षीय एक व्यक्ति का शव 12 नवंबर की सुबह दतिया शहर के पहाड़ी इलाके में पाया गया था. शव की पहचान की गई और पोस्टमार्टम के बाद उसके परिवार को सौंप दिया गया. इस हत्या में कोई सबूत नहीं था जो हमें हत्यारों तक ले जा सकता था. उन्होंने कहा कि जिस जगह पर शव मिला था, वहां संघर्ष का कोई निशान नहीं था. मृतक के पैरों में तेल के निशान थे लेकिन उसकी चप्पलें जो कुछ दूरी पर मिली थीं उनमें तेल के निशान नहीं थे. इससे यह संदेह पैदा हुआ कि उस आदमी को कहीं और मारा गया, फिर शव को वहां पर लाकर रख दिया गया था.

गीता भारद्वाज ने कहा कि बेटे के शव को देखने पर दंपति का दुःख बनावटी लग रहा था लेकिन हम यह नहीं मान सकते थे कि कोई पुरुष या महिला किसी भी कारण से अपने बेटे को मार डालेगा. हमने विभिन्न एंगल पर काम किया लेकिन कोई सफलता नहीं मिली. मुखबिरों द्वारा टिप देने के बाद हमने दंपति से पूछताछ की. लेकिन वे हमें गुमराह करते रहे. हमने मनोवैज्ञानिक तरीकों का इस्तेमान किया जिसके बाद दंपति ने स्वीकार किया कि उन्होंने छोटे बेटे के साथ मिलकर अपने बेटे की मदद से हत्या की. जिसके बाद हमने उन्हें सोमवार को गिरफ्तार किया.

पुलिस अधिकारी ने कहा कि आरोपी समाज के कमजोर वर्ग के हैं. उन्होंने बताया कि मृतक एक शराबी था. उसने अपनी बहन, छोटे भाई की पत्नी और भतीजी के साथ बलात्कार किया था. यहां तक कि उसने अपनी मां से भी छेड़छाड़ की थी. उनकी पत्नी ने उन्हें छह से सात महीने पहले छोड़ दिया था. 11 नवंबर की रात को उसने अपनी भाभी के साथ फिर से बलात्कार करने का प्रयास किया. यही कारण है कि उन्होंने उसे मार डाला. इसके अलावा पुलिस अधिकारी ने बताया कि आरोपियों को अदालत में पेश किया गया, जहां से उन्हें न्यायिक रिमांड पर जेल भेज दिया गया.