झाबुआ: मध्‍य प्रदेश के झाबुआ जिले में एक छठी कक्षा की स्कूली छात्रा द्वारा होमवर्क नहीं किए जाने पर सहपाठियों से 168 थप्पड़ लगवाने वाले शिक्षक का जमानत आवेदन निरस्त करते हुए जिले की स्थानीय अदालत ने आरोपी शिक्षक को जेल भेज दिया है. अतिरिक्त जिला अभियोजन अधिकारी रविप्रकाश राय ने बताया कि थांदला न्यायालय के न्यायाधीश जय पाटीदार ने 13 मई को आरोपी शिक्षक मनोज वर्मा के जमानत आवेदन को नामंजूर करते हुए आरोपी को जेल भेज दिया. यह घटना जिला मुख्यालय से 36 किलोमीटर दूर थांदला स्थित जवाहर नवोदय स्कूल में 11 जनवरी 2018 को हुई थी. Also Read - उत्तर प्रदेश: बेसिक शिक्षा विभाग में 69 हजार शिक्षकों की चयन प्रक्रिया पूरी, जल्द मिलेंगे नियुक्ति पत्र

राय ने बताया कि शिवप्रताप सिंह की पुत्री जवाहर नवोदय विद्यालय में छठी कक्षा में पढ़ती थी. बीमारी की वजह से छात्रा लगभग दस दिनों तक स्कूल नहीं जा पाई और इस कारण उसका होमवर्क पूरा नहीं हो पाया था. 11 जनवरी 2018 को वह स्कूली पहुंची तो होमवर्क पूरा अधूरा होने के कारण शिक्षक मनोज वर्मा द्वारा सहपाठी विद्यार्थियों से छात्रा के दोनों गालों पर लगातार छह दिन तक 168 थप्पड़ लगवा कर प्रताड़ित करने की सजा दी गई. Also Read - मैं बीजेपी ज्‍वाइन नहीं करूंगा चाहे मर जाऊं: TMC MP सौगत राय

अभियोजन अधिकारी ने बताया कि घटना के बाद छात्रा के पिता ने विद्यालय प्रबंधन को इस संबंध में शिकायत दी. प्रबंधन द्वारा एक जांच समिति का गठन किया गया और जांच के दौरान शिक्षक को निलंबित किया गया. Also Read - आजम खान को मिली बेल, अभी नहीं आ पाएंगे जेल से बाहर, MLA पत्‍नी और बेटे की रिहाई के आदेश

छात्रा के पिता की शिकायत पर पुलिस ने शिक्षक वर्मा के खिलाफ आईपीसी की विभिन्‍न धाराओं में मामला दर्ज कर जांच की जा रही थी और प्रथमदृष्टया मामला सही पाए जाने पर पुलिस ने सोमवार को शिक्षक वर्मा को गिरफ्तार कर अदालत में पेश किया. आरोपित शिक्षक की याचिका पर सुनवाई करते हुए अदालत ने शिक्षक का जमानत आवेदन निरस्त करते हुए उसे जेल भेज दिया.