Madhya Pradesh, groom, covid positive, Dhar, MP, Baraat, COVID-19, Coronavirus, News: देश में कहर ढा रही कोरोना वायरस संक्रमण की महामारी के बीच भी लोग शादी करने से नहीं मान रहे हैं. लेकिन इन शादियों से कोरोना संक्रमण के प्रसार का खतरा सबसे अधिक हो गया है. ऐसा ही कुछ एक ताजा मामला मध्‍य प्रदेश के धार जिले से सामने आया है, जहां शादी करने का ख्‍वाब सजाए हुए एक दूल्‍हा और उसकी कार चला रहा ड्राइव कोरोना पॉजिटिव निकले हैं. दोनों के संक्रमित होने का मामला तब आया, जब पुलिस ने रास्‍ते में जा रहे दो वाहनों को रोका और रैपिड एंटीनज टेस्‍ट करवाया तो दूल्‍हा और उसका ड्राइव दोनों ही कोविड-19 से पॉजिटिव निकले. Also Read - कोरोना संक्रमित वयस्कों को दी जाने वाली दवाइयां क्या बच्चों को दी जा सकती हैं? स्वास्थ्य मंत्रालय ने जारी की गाइडलाइंस

दूल्‍हा और ड्राइवर के कोरोना पॉजिटिव निकलने पर हड़कंप मच गया. शादी की सारी तैयारियां धरी रह गई और शादी नहीं हो पाई. वहीं, पुलिस ने दूल्‍हे और उसके परिवार के खिलाफ मामला दर्ज कर लिया गया है. Also Read - VivaTech Summit में बोले प्रधानमंत्री मोदी- महामारी से हुए नुकसान के बाद अब अर्थव्यवस्था को दुरुस्त करने की जरूरत

मध्य प्रदेश के धार जिले में एक दूल्हा और गाड़ी चालक कोविड पॉजिटिव पाए जाने के बाद एडिशनल एसपी देवेंद्र पाटीदार ने शुक्रवार को बताया, “आज 2 गाड़ियों को रोककर सभी का रैपिड एंटीजन टेस्ट कराया गया. ड्राइवर और दूल्हा कोविड पॉजिटिव पाया गया. आपदा प्रबंधन अधिनियम और धारा 188 के तहत कार्रवाई की गई है.”

मध्य प्रदेश में इंटर स्‍टेट बस परिवहन सेवा 15 मई तक स्थगित
मध्य प्रदेश सरकार ने कोरोना वायरस संक्रमण के प्रसार पर प्रभावी रोकथाम के लिए लोकहित में मध्य प्रदेश में चार राज्यों उत्तरप्रदेश, महाराष्ट्र, छत्तीसगढ़ एवं राजस्थान से आने तथा जाने वाले बस परिवहन संचालन को 15 मई तक स्थगित कर दिया है. पहले इन बसों का संचालन सात मई तक स्थगित किया गया था. प्रदेश के परिवहन विभाग ने इस संबंध में शुक्रवार को आदेश जारी कर दिए हैं.

4 राज्यों की यात्री बस वाहनों का एमपी बॉर्डर सीमा में प्रवेश पर रोक का आदेश जारी
मध्य प्रदेश जनसंपर्क विभाग के एक अधिकारी ने बताया, ”सचिव, राज्य परिवहन प्राधिकार एवं अपर परिवहन आयुक्त (प्रवर्तन) मध्य प्रदेश ने उत्तरप्रदेश, महाराष्ट्र, छत्तीसगढ़ एवं राजस्थान राज्यों से 15 मई 2021 तक मध्य प्रदेश की समस्त यात्री बस वाहनों का इन चार राज्यों की सीमा में प्रवेश तथा इन चार राज्यों की समस्त यात्री बस वाहनों का मध्य प्रदेश की सीमा में प्रवेश पर रोक लगाने के आदेश शुक्रवार को जारी किए हैं.” उन्होंने कहा कि पहले इन बसों को सात मई तक स्थगित किया गया था, जिसे बढाकर 15 मई तक किया गया है.

मध्य प्रदेश में कोरोना वायरस के 11708 नए मामले, 84 लोगों की मौत
मध्य प्रदेश में शुक्रवार को कोरोना वायरस संक्रमण के 11708 नए मामले सामने आए और इसके साथ ही प्रदेश में इस वायरस से अब तक संक्रमित पाए गए लोगों की कुल संख्या 6,49,114 तक पहुंच गई. राज्य में पिछले 24 घंटों में इस बीमारी से प्रदेश में 84 और व्यक्तियों की मौत हुई है, जिसके बाद प्रदेश में अब तक इस बीमारी से मरने वालों की संख्या 6,244 हो गई है. यह जानकारी मध्यप्रदेश स्वास्थ्य विभाग के एक अधिकारी ने दी है. मध्‍य प्रदेश में शुक्रवार को कोविड-19 के 1753 नए मामले इंदौर में आए, जबकि भोपाल में 1576, ग्वालियर में 910 एवं जबलपुर में 795 नए मामले आए. प्रदेश में कुल 6,49,114 संक्रमितों में से अब तक 5,47,447 मरीज स्वस्थ होकर घर चले गये हैं और 95,423 मरीजों का इलाज विभिन्न अस्पतालों में चल रहा है. शुक्रवार को कोविड-19 के 4815 रोगी स्वस्थ हुए हैं.

आर्थिक रूप से कमजोर परिवारों को निःशुल्क मुख्यमंत्री कोविड उपचार योजना लागू
इस बीच प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने शुक्रवार को कहा कि प्रदेश के समस्त आर्थिक रूप से कमजोर परिवारों को निःशुल्क कोविड उपचार उपलब्ध कराने के लिए राज्य सरकार ने ‘मुख्यमंत्री कोविड उपचार योजना’लागू की है. प्रदेश जनसंपर्क विभाग के एक अधिकारी ने बताया, ”मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि प्रदेश के समस्त आर्थिक रूप से कमजोर परिवारों को निःशुल्क कोविड उपचार उपलब्ध कराने के लिए राज्य सरकार संकल्पबद्ध है. इसी क्रम में मुख्यमंत्री कोविड उपचार योजना लागू की गई है. इस योजना में आयुष्मान कार्डधारी परिवारों का नि:शुल्क कोविड उपचार करने के लिए महत्वपूर्ण निर्णय भी लिये गये हैं.” उन्होंने बताया कि आयुष्मान पैकेज की दरों में 40 प्रतिशत की वृद्धि कर उनको वर्तमान में उपचार के लिए निजी अस्पतालों की दरों के समकक्ष लाया गया है. इसमें विशेष जांचों जैसे सीटी स्कैन, एमआरआई आदि की अधिकतम सीमा जो पूर्व में 5,000 रुपए प्रति परिवार प्रतिवर्ष थी, इसे संशोधित कर वर्ष 2021-22 में कोविड-19 के उपचार हेतु भर्ती कार्डधारियों के लिए 5,000 रुपए प्रति कार्डधारी कर दिया गया है.