नई दिल्ली: दिल्ली पुलिस की क्राइम ब्रांच ने एक ऐसे शख्स को गिरफ्तार किया है जो कि अपने आप को गृहमंत्री अमित शाह का सचिव बता कर सरकारी विभागों में काम फोन करता था. शख्स का नाम अभिषेक द्विवेदी बताया जा रहा है. क्राइम ब्रांच की टीम आरोपी से पूछताछ कर रही है और इस बात को जानने की कोशशि कर रही है कि आखिर अभी तक उसने कौन कौन से विभोगों में फोन किया है. Also Read - दिल्ली दंगा: पुलिस ने इन 15 लोगों के खिलाफ दायर किया 10 हजार पेज का आरोप पत्र

जानकारी के अनुसार गृह मंत्री का सचिव बताने वाले व्यक्ति को क्राइम ब्रांच ने मध्य प्रदेश के इंदौर से गिरफ्तार किया है. अभिषेक के फर्जी सचिव होने का खुलासा तब हुआ जब ग्वालियर के परिवहन विभाग ने गृह मंत्री के पर्सनल सिक्रेटरी को इस बारे में सूचना दी. जानकारी के मुताबिक अभिषेक द्विवेदी ने 3 जुलाई 2020 को गृह मंत्री कार्यालय की तरफ से एक शिकायत दर्ज करवाई गई कि अभिषेक द्विवेदी नामक एक शख्स ने अपने आप को गृह मंत्री का पर्सनल सेक्रेटरी बताकर रोड ट्रांसपोर्ट मिनिस्टर के कार्यालय में ग्वालियर परिवहन कार्यालय के परिवहन निरीक्षक का दूसरे जिले में ट्रांसफर होने रोकने के लिए फोन किया. Also Read - 2,500 से ज्‍यादा लोगों को ठगने वाला अरेस्‍ट, स्‍मार्ट तरीके से धोखाधड़ी को देता था अंजाम

अभिषेक के फोन कॉल पर शक होने पर असिस्टेंट पर्सनल सेक्रेटरी सड़क परिवहन ने इसकी सूचना गृहमंत्री के पर्सनल सेक्रटरी को दे दी. गृह मंत्री के पर्सनल निजी सचिव ने दिल्ली पुलिस आयुक्त के पास इसकी शिकायत दर्ज करा दी. Also Read - कोर्ट ने उमर खालिद को 10 दिन के लिए हिरासत में भेजा, पुलिस ने ये बात कहकर मांगी थी रिमांड

पुलिस की जांच में पता चला कि जिस शख्स ने सड़क परिवहन मिनिस्टर के सचिव को फोन किया था उसका नाम अभिषेक द्विवेदी है और वह रीवा जिले का रहने वाला है. पुलिस की पड़ताल में यह भी सामने आया कि वह जब उसने कॉल किया था तब वह मुंबई में रह रहा था और उसका पुराना आपराधिक रिकॉर्ड है.

पुलिस की जांच की भनक लगने पर वह मुंबई छोड़कर बैंगलोर चला गया था. काफी मेहनत के बाद उसे इंदौर में पकड़ लिया गया. अभिषेक जिस फोन का इस्तेमाल कर रहा था उसे भी पुलिस ने बरामद कर लिया है. उसके फोन कॉल्स की डिटेल्स को चेक किया जा रहा है.