Dadda Ji Funeral: लॉकडाउन 4.0 के बीच मध्य प्रदेश में एक संत की अंतिम यात्रा में सैकड़ोंं लोग दिखे. बड़ी संख्या में आए लोगों में बॉलीवुड अभिनेता आशुतोष राणा और राजपाल यादव भी मौजूद थे. Also Read - Delhi Metro Start Date Timings: 200 स्पेशल ट्रेन, घरेलू उड़ानों के बाद अब चलेगी दिल्ली मेट्रो!

लोग उनकी एक अंतिम झलक पाने को बेताब दिखे. पुलिस और प्रशासन के लिए इस भीड़ को मैनेज करना मुश्किल हो रहा था. दद्दाजी का कटनी में राजकीय सम्मान के साथ अंतिम संस्कार किया गया. Also Read - चुनिंदा रेलवे स्टेशनों पर 22 मई से खुलेंगे टिकट रिजर्वेशन काउंटर, एजेंट्स भी कर सकेंगे बुकिंग

कौन हैं दद्दा जी
– दद्दा जी का जन्म बारडोली की धरा के गांव कूड़ा मर्दानगढ़ में हुआ था. वह करपात्री महाराज के शिष्य थे.

– नारायण संस्कृत महाविद्यालय कटनी से संस्कृत की शिक्षा ली.

– संस्कृत विश्वविद्यालय वाराणसी में वेद-वेदांगों का अध्ययन किया, अध्यापन कार्य किया.

– धर्म कर्म के कार्यों के लिए जाना जाता है. प्रकांड विद्वान थे.

– 131 पार्थिव शिवलिंग निर्माण, रूद्राभिषेक यज्ञ के लिए प्रसिद्ध थे.