भोपाल: राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ(आरएसएस) के प्रमुख मोहन भागवत द्वारा गुजरात के अहमदबाद में दिए गए बयान को आधार बनाकर मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह ने केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह पर हमला बोला है. उन्होंने कहा है कि सीएए वापस लेने, एनपीआर और एनआरसी नहीं लागू करने का शाह निर्णय लें अथवा अपने पद से इस्तीफा दें. Also Read - Covid-19: गृह मंत्री अमित शाह से लेकर यूपी सीएम योगी आदित्यनाथ तक, इन राज नेताओं ने जलाए दीये

दिग्विजय ने अपने ट्वीट में मोहन भागवत के बयान को टैग किया, जिसमें उन्होंने कहा था, “कोई भी खुश नहीं है. हर कोई आंदोलन कर रहा है. मिल मालिक और मजदूर आंदोलन कर रहे हैं. नियोक्ता और कर्मचारी आंदोलन कर रहे हैं. सरकार और जनता आंदोलन कर रही है. छात्र और शिक्षक आंदोलन कर रहे हैं. हर कोई दुखी और असंतुष्ट है.” Also Read - दिग्विजय सिंह अमर्यादित भाषा वाले आ रहे कॉल्‍स से हुए परेशान, बंद किया मोबाइल फोन

सिंह ने भागवत के बयान पर अपनी प्रतिक्रिया देते हुए ट्वीट किया, “सच्चाई कब तक छुपेगी. भागवत जी, आप और आपकी संस्था ने ही मोदी, शाह को समर्थन देकर देश के ये हालात कर दिए. आप और आपकी संस्था मोदी, शाह को समर्थन देना बंद कर दे, जमीन खिसक जाएगी. गुजरात में भागवत जी का यह बयान आया, कुछ संकेत तो देता है. मोदी, शाह राजधर्म नहीं निभा रहे हैं.”

पूर्व मुख्यमंत्री सिंह ने एक अन्य ट्वीट में गृहमंत्री अमित शाह को सलाह दी, “आज अमित शाह जी शाहीन बाग के धरना देने वालों से मिल रहे हैं. तीन निर्णय ले लीजिए, देश में शांति हो जाएगी. सीएए वापस, नो एनपीआर और नो एनआरसी. या फिर मोहन भागवत जी के अहमदाबाद में दिए बयान पर ध्यान देते हुए अपना इस्तीफा दे दीजिए.”