जबलपुर: सीएम कमलनाथ पर मध्य प्रदेश सरकार द्वारा संचालित कनिष्ठ बुनियादी मिडिल स्कूल के प्रधानाध्यापक द्वारा की गई आपत्तिजनक टिप्पणी उन्हें भारी पड़ गई. सोशल मीडिया पर वीडियो वायरल होने के बाद कांग्रेस नेताओं की आपत्ति और लोगों से मिली शिकायतों के बाद डीएम जबलपुर छवि भारद्वाज ने उसकी जांच कराई और जांच रिपोर्ट में उन्हें दोषी पाए जाने पर उन्हें तत्काल निलंबित करने का आदेश जारी कर दिया.

इन तीन राज्यों में मामलों की जांच नहीं करेगी CBI, जानिए आखिर क्यों

जिलाधिकारी का आदेश

सोशल मीडिया कांग्रेस पार्टी कार्यकर्ताओं ने इस मसले पर डीएम जबलपुर से तत्काल कार्रवाई की मांग करते हुए उक्त आरोपी प्रिंसिपल मुकेश तिवारी को पद से बर्खास्त करने की मांग की गई थी. कांग्रेस नेताओं ने इस वायरल वीडियो की सीडी बना कर जिलाधिकारी छवि भारद्वाज को सौंपी थी. जिलाधिकारी ने इस मसले पर तत्काल जांच टीम गठित कर दी थी. टीम द्वारा वीडियो की जांच में प्रधानाध्यापक को प्रथम दृष्टया मध्य प्रदेश सिविल सेवा (आचरण) नियमों के उल्लंघन का दोषी पाया गया. बता दें कि प्रधानाध्यापक मुकेश तिवारी ने सीएम कमलनाथ पर आपत्तिजनक टिप्पणी तीन दिन पूर्व विद्यालय की मीटिंग के दौरान की थी. गुरूवार को जांच कमेटी की रिपोर्ट मिलते ही डीएम ने उन्हें निलंबित कर जिला शिक्षा कार्यालय से सम्बद्ध करने का आदेश दे दिया है. आगे की कार्रवाई के लिए फिलहाल मामले की जांच जारी है.

माया-अखिलेश प्रेस कांफ्रेंसः बनने से पहले ही महागठबंधन में दरार! जयंत चौधरी को अभी तक नहीं मिला न्योता