औरंगाबाद: मध्य प्रदेश आतंकवाद निरोधी दस्ते (एटीएस) ने भाजपा की सांसद प्रज्ञा सिंह ठाकुर(MP Pragya Thakur) को कथित तौर पर संदिग्ध लिफाफे भेजने के मामले में महाराष्ट्र(Maharashtra) के नांदेड जिले से एक चिकित्सक को गिरफ्तार किया है. पुलिस ने शनिवार को यह जानकारी दी. भोपाल लोकसभा क्षेत्र से सांसद ठाकुर ने सोमवार को भोपाल पुलिस में शिकायत दर्ज कराई थी कि उन्हें किसी ने कुछ लिफाफे भेजे हैं, जिसमें जहरीला रसायनिक पदार्थ है. Also Read - India vs England ODI Series: भारत बनाम इंग्लैंड वनडे सीरीज में नहीं होंगे दर्शक, जानिए क्या है वजह

पुलिस ने ठाकुर के आवास से तीन चार लिफाफे बरामद किए थे जिसमें से कुछ उर्दू में लिखे हुए हैं. नांदेड के इतवारा पुलिस थाने के निरीक्षक प्रदीप ककाडे ने बातचीत में कहा कि जांच के दौरान मध्यप्रदेश एटीएस ने यह पाया कि नांदेड जिले के धानेगांव इलाके के डॉक्टर सैयद अब्दुल रहमान खान (35) ने यह संदिग्ध लिफाफे ठाकुर को भेजे हैं. खान इलाके में अपना क्लीनिक चलाते हैं. Also Read - MP: रात के अंधेरे में कुंए में SUV गिरने से पुलिस-इंस्‍पेक्‍टर और सिपाही की मौत, सुबह गांव वाले खेत पहुंचे तो पता चला

उज्जैन के महाकालेश्वर मंदिर की भस्म आरती में शामिल होने वाले दिव्यांगों को अब वीआईपी का दर्जा Also Read - लड़की का पीछा करने पर कोर्ट ने 24 साल के युवक को 22 महीने की कड़ी सजा सुनाई

उन्होंने बताया ,‘‘मध्यप्रदेश एटीएस ने खान को बृहस्पतिवार को हिरासत में ले लिया. वह पिछले तीन माह से पुलिस के राडार पर था क्योंकि उसने पहले भी कुछ सरकारी अधिकारियों को पत्र लिखा था जिसमें उसने दावा किया था कि उसके मां और भाई के आतंकवादियों से संपर्क हैं और उन्हें गिरफ्तार किया जाना चाहिए.’’

उन्होंने बताया कि ऐसे पत्र लिखने के लिए खान को पहले भी गिरफ्तार किया जा चुका है. ककाड़े ने बताया, ‘‘ पुलिस उसके मोबाइल फोन की लोकेशन के जरिए उस पर नजर रख रही थी. लेकिन वह मोबाइल फोन घर पर ही छोड़ कर इन पत्रों को डालने औरंगाबाद, नागपुर और अन्य स्थानों पर जाता था.’’ उन्होंने बताया कि खान का अपने भाई के साथ भी विवाद था और उसे भाई से मारपीट के कारण पहले भी गिरफ्तार किया जा चुका है.