इंदौर: पूरा देश इस समय कोरोना वायरस के चपेट में हैं. इस महामारी से अब तक हज़ारों लोग संक्रमित हो चुके हैं वहीं 30 से ज़्यादा लोगों की जान भी जा चुकी है. दिन-प्रतिदिन ये बीमारी फैलती हुई नज़र आ रही है. अभी हाल ही में  मध्यप्रदेश के इंदौर में 49 वर्षीय महिला के सोमवार रात दम तोड़ने के बाद राज्य में कोरोना वायरस संक्रमित मरीजों की मौत की तादाद बढ़कर पांच पर पहुंच गई है. इनमें से तीन अकेले इंदौर शहर के निवासी थे जिनमें से दो की मौत पिछले 24 घंटे में हुई. Also Read - वैज्ञानिकों ने खोजा कोरोना से जुड़ी गंभीर बीमारियों से बच्चों को बचाने का रहस्य, जानिए क्या है इनका दावा  

शासकीय महात्मा गांधी स्मृति चिकित्सा महाविद्यालय के एक अधिकारी ने मंगलवार को बताया कि चंदन नगर क्षेत्र में रहने वाली 49 वर्षीय महिला ने मनोरमा राजे टीबी (एमआरटीबी) चिकित्सालय में आखिरी सांस ली. अधिकारी ने बताया कि 23 मार्च को कोरोना वायरस से संक्रमित पायी गयी महिला उच्च रक्तचाप और मधुमेह से पहले ही पीड़ित थी. Also Read - कोरोना महामारी के बीच फिल्म निर्माता बना रहे हैं ये प्लान, तापसी पन्नू की आगामी फिल्म से हो सकती है शुरुआत

उन्होंने बताया कि कोरोना वायरस संक्रमण के बाद अस्पताल में इलाज के दौरान दम तोड़ने वाली महिला ने पिछले दिनों कोई यात्रा नहीं की थी. अब तक मिली रिपोर्टों के मुताबिक सूबे में कुल 47 लोग कोरोना वायरस संक्रमण की जद में आये हैं. इनमें इंदौर के सर्वाधिक 27 मरीज शामिल हैं. इनके अलावा, जबलपुर के आठ, उज्जैन के पांच, भोपाल के तीन और शिवपुरी एवं ग्वालियर के दो-दो मरीजों में भी इस संक्रमण की पुष्टि हुई जिनका अलग-अलग अस्पतालों में इलाज जारी है. Also Read - अमेरिका में नए वीजा नियम से लाखों भारतीय छात्र परेशान, क्या नरमी बरतेगा ट्रंप प्रशासन?

इस महामारी से मरने वालों में तीन मरीज इंदौर के बाशिंदे थे, जबकि दो अन्य लोग पड़ोस के उज्जैन शहर से ताल्लुक रखते थे. इंदौर, राज्य में कोरोना वायरस के प्रकोप से सबसे ज्यादा प्रभावित शहर है. कोरोना वायरस संक्रमण के मरीज सामने आने के बाद प्रशासन ने 25 मार्च से शहरी सीमा में लॉकडाउन की जगह कर्फ्यू लागू कर दिया था.