भोपाल: एमपी के नए सीएम बने कमलनाथ के शपथ ग्रहण समारोह के दौरान ये अनोखा नजारा सामने आया, जब समारोह के दौरान मंच पर पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान  नए मुख्यमंत्री कमलनाथ और कांग्रेस नेता ज्योतिरादित्य सिंधिया के बीच खड़े होकर दोनों कांग्रेस नेताओं के हाथ पकड़कर उठाते हुए नजर आए. ऐसा सीन विरोधी नेताओं के साथ शायद ही नजर आए. हालांकि, एक ही दल के नेता जब किसी सियासी मंच पर अपनी एकजुटता दिखाते हैं, तब जरूर ऐसा करते हुए दिख जाते हैं. हाल ही में हुए विधानसभा चुनाव के दौरान कांग्रेस के युवा नेता ज्योतिरादित्य सिंधिया और कमलनाथ ने बीजेपी और शिवराज पर बयानों के जरिए खूब चुनावी हमले किए थे, वहीं, बीजीपी ने तो सिंधिया पर केंद्रित नारा ही दिया था… माफ करो महाराज.

कमलनाथ बने मध्यप्रदेश के 18वें मुख्यमंत्री, विपक्ष ने दिखाई एकजुटता

इस भव्य समारोह से पहले मैदान में सर्वधर्म प्रार्थना हुई. कमलनाथ को मुख्यमंत्री पद की शपथ दिलाने के बाद राज्यपाल आनंदीबेन वहां से रवाना हो गई.

चुनाव में नारा बीजेपी ने दिया, आखिर क्यों राहुल गांधी ने भी कहा ‘माफ करो महाराज’!

बता दें कि चुनाव परिणाम आने के बाद कमलनाथ शिवराज से मिलने के लिए पहुंचे थे, वहीं, शपथ ग्रहण समारोह में शामिल होने के सवाल पर चौहान ने कहा था कि अगर उन्हें निमंत्रण मिलता है तो वो जरूर इसमें जाएंगे. माना जा रहा है कि शिवराज इस घटना के जरिए संदेश देने की कोशिश कर रहे थे कि विकास की यात्रा में वे सत्तापक्ष पर पूरा सहयोग करेंगे. पूर्व सीएम शिवराज ने फोन पर भी कमलनाथ को जीत की बधाई दी थी .

– कमलनाथ ने मध्यप्रदेश के नए मुख्यमंत्री पद की शपथ ली
– कमलनाथ मध्यप्रदेश के 18वें मुख्यमंत्री बने
– राज्यपाल आनंदीबेन ने दिलाई शपथ

शपथ ग्रहण समारोह में ये हस्तियां हुईं शामिल
– कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी
– पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह
– पूर्व प्रधानमंत्री एचडी देवेगौड़ा
– कर्नाटक के मुख्यमंत्री एच डी कुमारस्वामी
– पुडुचेरी के मुख्यमंत्री वी नारायणसामी
– द्रमुक नेता एम के स्टालिन
– टीडीपी के प्रमुख और आंध्रप्रदेश के सीएम एन. चन्द्रबाबू नायडू
– लोकतांत्रिक जनता दल के नेता शरद यादव
– बिहार विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव
– राष्ट्रवादी कांग्रेस के नेता शरद पवार
– एनसीपी नेता प्रफुल्ल पटेल
– नेशनल कांफ्रेस के नेता फारूख अब्दुल्ला
– तृणमूल कांग्रेस के नेता दिनेश त्रिवेदी शामिल

बीजेपी के तीन पूर्व सीएम हुए शामिल
– एमपी के बीजेपी 3 पूर्व सीएम शिवराज सिंह चौहान, कैलाश जोशी और बाबूलाल गौर

ये नहीं आए
-कार्यक्रम में बसपा प्रमुख मायावती और सपा प्रमुख अखिलेश यादव नहीं आ सके

कांग्रेस के ये नेता भी प्रमुख रूप से रहे मौजूद
– राजस्थान के मुख्यमंत्री के रूप में शपथ लेने वाले अशोक गहलोत
– राजस्थान के उप मुख्यमंत्री सचिन पायलट
– लोकसभा में विपक्ष के नेता मल्लिकार्जुन खड़गे
– पंजाब सरकार के मंत्री नवजोत सिंह सिद्धू
– यूपी कांग्रेस के प्रमुख राजबब्बर
– वरिष्ठ कांग्रेस नेता आनंद शर्मा
– कांग्रेस नेता राजीव शुक्ला
– हरियाणा के पूर्व सीएम भूपेन्द्र सिंह हुड्डा
– कांग्रेस ज्योतिरादित्य सिंधिया
– एमपी के मुख्यमंत्री दिग्वियज सिंह
– कांग्रेस वरिष्ठ नेता अजय सिंह
– सुरेश पचौरी सहित अनेक प्रमुख नेता
– साधु संत और सभी धर्मो के प्रतिनिधि उपस्थित थे