नई दिल्‍ली: एसबीआई में 938.81 करोड़ रुपए के बैंक फ्रॉड केस में सीबीआई ने आज शनिवार को दिल्‍ली, मुरैना समेत अन्‍य कई अन्‍य ठिकानों पर एक प्राइवेट कंपनी के एमडी, प्रमोटर/डायरेक्‍टर के खिलाफ छापे मारे हैं. सीबीआई की एक साथ कई शहरों में छापे की कार्रवाई की है.Also Read - दिल्ली के पूर्व पुलिस अधिकारी ने की पार्किंग टिकट दर ज्यादा लेने की शिकायत, मिला- 'डायल 112'

सीबीआई ने मध्यप्रदेश के मुरैना की कंपनी के. एस. ऑयल्स लिमिटेड और प्रबंध निदेशक रमेश चंद्र गर्ग सहित इसके निदेशकों के खिलाफ भारतीय स्टेट बैंक (एसबीआई) से 938 करोड़ रुपए की धोखाधड़ी करने के लिए मामला दर्ज किया है और पांच स्थानों पर छापेमारी की है. सीबीआई के प्रवक्ता ने शुक्रवार को यह जानकारी  दी है. Also Read - महबूबा मुफ्ती ने दिल्ली के जंतर मंतर पर दिया धरना, बोलीं- कश्मीर दर्द में है

अधिकारियों ने कहा कि मुरैना में फैक्टरी और कंपनी के पंजीकृत कार्यालय, गर्ग तथा अन्य निदेशक सौरभ गर्ग के आवासों तथा नई दिल्ली में इसके बाराखंभा स्थित कार्यालय पर एजेंसी ने शुक्रवार को छापेमारी की. उन्होंने कहा कि कंपनी के एक अन्य निदेशक देवेश अग्रवाल पर भी सीबीआई ने मामला दर्ज किया है, लेकिन उनके परिसरों पर छापेमारी नहीं की गई है. Also Read - Omicron In India: चार दिन-5 राज्य-21 मरीज, वैक्सीनेटेड भी ओमिक्रॉन पॉजिटिव, ये लक्षण आए हैं सामने..

सीबीआई के प्रवक्ता आर. के. गौर ने बताया, ”आरोप है कि फोरेंसिंक ऑडिट के निष्कर्षों से पता चला कि ऋण के लिए आवेदन करते समय कंपनी की वित्तीय स्थिति में हेरफेर कर दर्शाया गया. यह भी आरोप है कि धोखाधड़ी कर ऋण की राशि का दुरुपयोग किया गया.

न्‍यूज एजेंसी एएनआई के मुताबिक, सीबीआई ने मध्‍य प्रदेश के मुरैना की एक प्राइवेट कंपनी के एमडी, प्रमोटर/डायरेक्‍टर के खिलाफ एक शिकायत पर केस दर्ज किया है. एसबीआई से संबंधित कथिततौर पर लगभग 938.81 रुपए की धोखाधड़ी की गई है. सीबीआई आरोपियों के मध्‍य प्रदेश के मुरैना और दिल्‍ली स्थित परिसरों में सर्च की है. उन्होंने कहा कि कंपनी के एक अन्य निदेशक देवेश अग्रवाल पर भी सीबीआई ने मामला दर्ज किया है, लेकिन उनके परिसरों पर छापेमारी नहीं की गई है.