ग्वालियर: मध्य प्रदेश में गणतंत्र दिवस के मौके पर ग्वालियर में आयोजित समारेाह में महिला बाल विकास मंत्री इमरती देवी की किरकिरी हो गई. समारोह के दौरान मंत्री इमरती देवी को मुख्यमंत्री कमलनाथ का संदेश पढ़ना था. उन्हें संदेश पढ़ने को मंच पर पहुंची. बोलना शुरू, लेकिन एक दो शब्द बोलने पर ही वह अटकने लगीं. जब लिखा हुआ सन्देश ठीक से नहीं पढ़ पाईं तो उन्होंने पास ही खड़े कलेक्टर से उन्होंने पढ़ने को कहा और मंच से चली गईं. मंत्री द्वारा हिंदी भी ठीक से नहीं पढ़ पाने का वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है.

ये है पूरी घटना
ये घटना हुई मध्य प्रदेश के शहर ग्वालियर में. दरअसल, यहां गणतंत्र दिवस का कार्यक्रम था. इसमें मुख्य अतिथि के तौर पर मध्य प्रदेश में कांग्रेस की सरकार में महिला विकास मंत्री इमरती देवी को आमंत्रित किया गया था. वह कार्यक्रम में मौजूद थीं. उन्हें मध्य प्रदेश के सीएम कमलनाथ का सन्देश उन्हें पढ़ना था. वो संदेश उन्हें दिया गया, लेकिन वह संदेश को पाईं. इसके बाद उन्होंने पास ही खड़े कलेक्टर से कहा, अब आप पढ़िए. इसके बाद कलेक्टर ने भारत यादव ने मंत्री का पूरा भाषण पढ़ा.

बाद में बताई ये वजह
राज्य में गणतंत्र दिवस के मौके पर जिला स्तर पर आयोजित होने वाले समारोहों में मुख्यमंत्री के संदेश का वाचन करने की परंपरा है. जहां जो मुख्य अतिथि होता है, वह मुख्यमंत्री के संदेश को पढ़ता है. ग्वालियर में मंत्री इमरती देवी को यही परंपरा निभानी थी. मीडिया सोशल मीडिया में वीडियो वायरल होने के बाद उन्होंने कहा वह उस समय बीमार थीं, इसलिए ऐसा हुआ. कोई चाहे तो डॉक्टर से भी पूछ सकता है.

12वीं पास हैं, संपत्ति एक करोड़ से ज्यादा है
राज्य सरकार की मंत्री इमरती देवी आरक्षित वर्ग से आती हैं और कम पढ़ी लिखी हैं. इसके चलते उन्हें हिंदी भी पढ़ने में दिक्कत आती है और यह बात शनिवार को गणतंत्र दिवस समारोह में भी देखने को मिली. इमरती देवी ने अटक-अटक कर मुख्यमंत्री के संदेश की कुछ लाइनें पढ़ीं. एडीआर की वेबसाइट के अनुसार इमरती देवी 12वीं पास हैं. इस वेबसाइट के अनुसार इमरती देवी करोड़पति हैं. उनके पास एक करोड़ से अधिक की संपत्ति है.