नई दिल्‍ली: मध्यप्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री और कांग्रेस की प्रदेश इकाई के अध्यक्ष कमलनाथ ने मंगलवार को अपने आवास पर हनुमान चालीसा का पाठ किया. साथ ही उनके आह्वान पर कई अन्य नेताओं ने भी अपने घरों और देवालयों में विशेष रूप से हनुमान चालीसा पाठ का आयोजन किया. कांग्रेस प्रदेश अध्‍यक्ष ने कहा, हम चांदी की 11 ईंटें अयोध्‍या भेज रहे हैं. Also Read - सुनवाई में 61 बार गैरमौजूद रहे हार्दिक पटेल नहीं जा सकेंगे गुजरात से बाहर, कोर्ट ने खारिज की अर्जी

पूर्व सीएम कमलनाथ ने कहा, हम मध्य प्रदेश के लोगों की ओर से 11 चांदी की ईंट अयोध्या भेज रहे हैं, उन्हें कांग्रेस सदस्यों से दान के साथ खरीदा गया था. यह एक ऐतिहासिक दिन (कल) है जिसके लिए पूरा देश इंतजार कर रहा था. हनुमान चालीसा का पाठ राज्य के लोगों के कल्याण के लिए किया गया था. Also Read - दशकों तक किसानों से खोखले वादे करने वाले अब उन्हीं के कंधे पर रखकर बंदूक चला रहे हैं: पीएम मोदी

कमल नाथ के श्यामला हिल्स स्थित आवास पर मंगलवार को हनुमान चालीसा पाठ का आयोजन किया गया. इस दौरान मौ कांग्रेस के कई नेता मौजूद रहे. कमलनाथ ने अपने ट‍ि्वटर का प्रोफाइल प‍िक भी बदल द‍िया है.

बता दें कि आज ही कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी ने अपना बयान जारी कर कहा, ‘5 अगस्त को को रामलला के मंदिर के भूमिपूजन का कार्यक्रम रखा गया है. भगवान राम की कृपा से यह कार्यक्रम उनके संदेश को प्रसारित करने वाला, राष्ट्रीय एकता, बंधुत्व और सांस्कृतिक समागम का संदेश बने.’

बता देकं कि प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष कमल नाथ ने सोमवार को एक वीडियो संदेश जारी किया था, जिसमें उन्होंने कहा था कि वे प्रदेश की खुशहाली के लिए मंगलवार को हनुमान चालीसा का पाठ करने वाले हैं. प्रदेशवासी इस मौके पर अपने घर में रहकर या नजदीक के मंदिर में जाकर प्रदेश की खुशहाली के लिए हनुमान चालीसा का पाठ करें.

कुछ इसी तरह पूर्व प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष अरुण यादव और पूर्व कृषि मंत्री सचिन यादव ने खरगोन जिले के बौरांवा गांव में विशेष अनुष्ठान के साथ हनुमान चालीसा का पाठ किया.

एक तरफ जहां पूर्व मुख्यमंत्री कमल नाथ ने मंगलवार को हनुमान चालीसा का पाठ किया तो वहीं, उनके ट्विटर हैंडल की प्रोफाइल भी बदल गई. प्रोफाइल में जो तस्वीर लगी है, उसमें कमल नाथ भगवाधारी नजर आ रहे हैं. साथ ही हनुमान चालीसा पाठ का जिक्र किए जाने के साथ कमल नाथ हनुमान जी की प्रतिमा के सामने नजर आ रहे हैं.

कमलनाथ ने यहां अपने सरकारी निवास पर राम दरबार सजाकर हनुमान चालीसा के पाठ का आयोजन करने के बाद मीडिया से कहा, ”हम राम मंदिर निर्माण के लिये प्रदेश की जनता की ओर से चांदी की 11 ईंट (शिला) भेज रहे हैं. ये ईंट प्रदेश के नागरिकों एवं कांग्रेस कार्यकर्ताओं के सहयोग से चंदा एकत्रित कर खरीदे गए हैं.”

उन्होंने कहा, ”हम राम मंदिर निर्माण का स्वागत करते हैं.” कमलनाथ ने कहा कि पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी ने वर्ष 1985 में इसकी शुरुआत की थी और वर्ष 1989 में उन्होंने इसका शिलान्यास किया था. उन्होंने दावा किया, ”राजीव गांधी जी के कारण ही राम मंदिर का सपना आज साकार हो रहा है. आज राजीव जी होते तो यह सब देखते.”

कमलनाथ ने कहा कि भारत की संस्कृति सभी को जोड़ने वाली है. यहां विभिन्न भाषाएं एवं विभिन्न धर्मों के लोग रहते है. यह हमारी पहचान है. उन्होंने कहा, ”हम जब भी कुछ करते है, भाजपा के पेट में दर्द पता नहीं क्यों चालू हो जाता है. क्या धर्म पर उनका पेटेंट है, उनका ठेका है? उन्होंने (भाजपा) धर्म की एजेंसी ली हुई है क्या?”

मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ ने कहा कि मैंने कुछ साल पहले छिन्दवाड़ा में हनुमान जी की मूर्ति स्थापित की. इसके अलावा, हमने अपनी पूर्व प्रदेश सरकार में गौशालाएं बनवाई, ‘राम वन गमन पथ’ पथ के निर्माण की बाधाएं दूर की और महाकाल व ओंकारेश्वर मंदिर के विकास की योजना बनाई.

उन्होंने कहा, ”बस हम धर्म का उपयोग राजनीति के लिए नहीं करते हैं. हम इसे ‘इवेंट’ नहीं बनाते हैं. हम सभी की सोच धार्मिक है लेकिन हम धर्म और राजनीति का गठजोड़ नहीं करते हैं. कमलनाथ ने कहा कि उन्होंने हनुमान चालीसा का पाठ कर देश-प्रदेश की खुशहाली की कामना की. इससे पहले कमलनाथ ने अपने ट्विटर अकाउंट में भगवा कपड़े में अपनी तस्वीर भी पोस्ट की.