Top Recommended Stories

High Court ने स्‍टैंडअप कॉमेडियन मुनव्वर फारुकी समेत दो आरोपियों की जमानत याचिकाएं खारिज कीं

एमपी के इंदौर में कॉमेडियन मुनव्वर फारुकी समेत अन्‍य पर हिंदू देवी-देवताओं को लेकर आपत्तिजनक टिप्पणियों के लेकर केस दर्ज किया गया था

Published: January 28, 2021 1:30 PM IST

By India.com Hindi News Desk | Edited by Laxmi Narayan Tiwari

comedian munawar faruqui got interim bail from supreme court
Munawar Faruqui (File Photo)

MP, High Court, Munawar Faruqui: मध्य प्रदेश हाई कोर्ट आज गुरुवार ने हास्य कलाकार मुनव्वर फारुकी और एक अन्य आरोपी नलिन यादव की जमानत याचिकाएं खारिज कर दीं. ये मामला एमपी के इंदौर शहर का है, जहां स्‍टैंडअप कॉमेडियन मुनव्वर फारुकी समेत दो अन्‍य पर हिंदू देवी-देवताओं को लेकर आपत्तिजनक टिप्पणियों के मामले में केस दर्ज किया गया था.

राज्य में सत्तारूढ़ भाजपा की स्थानीय विधायक मालिनी लक्ष्मण सिंह गौड़ के बेटे एकलव्य सिंह गौड़ की शिकायत पर एक जनवरी को गिरफ्तारी के बाद फारुकी और यादव यहां न्यायिक हिरासत के तहत केंद्रीय जेल में बंद हैं. हाईकोर्ट की इंदौर पीठ के न्यायमूर्ति रोहित आर्य ने जमानत याचिकाओं पर सुनवाई के बाद सोमवार को अपना फैसला सुरक्षित रख लिया था.

You may like to read

एकल पीठ ने आज गुरुवार को को जारी फैसले में फारुकी और यादव की जमानत याचिकाओं को खारिज करते हुए कहा, “अदालत मुकदमे के गुण-दोषों को लेकर संबंधित पक्षों की दलीलों पर टिप्पणी करने से बच रही है. लेकिन मामले में जब्त सामग्री, गवाहों के बयानों और (पुलिस की) जांच जारी होने के चलते फिलहाल जमानत याचिकाओं को मंजूर नहीं कर सकते. ”

पुलिस अधिकारियों के मुताबिक स्थानीय भाजपा विधायक के बेटे एकलव्य सिंह गौड़ ने फारुकी और हास्य कार्यक्रम के आयोजन से जुड़े चार अन्य लोगों के खिलाफ तुकोगंज पुलिस थाने में एक जनवरी रात को मामला दर्ज कराया था. विधायक के पुत्र का आरोप है कि शहर के एक कैफे में एक जनवरी शाम आयोजित इस कार्यक्रम में हिंदू देवी-देवताओं, केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह और गोधरा कांड को लेकर अभद्र टिप्पणियां की गई थीं.

चश्मदीदों के मुताबिक एकलव्य अपने साथियों के साथ बतौर दर्शक इस कार्यक्रम में पहुंचे थे. उन्होंने कथित आपत्तिजनक टिप्पणियों के विरोध में जमकर हंगामा किया और कार्यक्रम रुकवाने के बाद फारुकी समेत पांच लोगों को पकड़कर पुलिस के हवाले कर दिया था.

पुलिस अधिकारियों ने बताया कि विवादास्पद कार्यक्रम को लेकर पांचों लोगों को भारतीय दंड विधान की धारा 295-ए और अन्य सम्बद्ध प्रावधानों के तहत गिरफ्तार किया गया था. बाद में इस कार्यक्रम के आयोजन में शामिल होने के आरोप में एक और व्यक्ति को गिरफ्तार किया गया था.

Also Read:

ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज अपडेट के लिए हमें फेसबुक पर लाइक करें या ट्विटर पर फॉलो करें. India.Com पर विस्तार से पढ़ें India Hindi की और अन्य ताजा-तरीन खबरें

By clicking “Accept All Cookies”, you agree to the storing of cookies on your device to enhance site navigation, analyze site usage, and assist in our marketing efforts Cookies Policy.