ग्वालियर: ग्वालियर में प्रशासन द्वारा लगभग दो साल पहले जब्त की गई नाथूराम गोडसे (Nathuram Godse) की प्रतिमा वापस पाने के लिए हिंदू महासभा (Hindu Mahasabha) के कार्यकर्ता मंगलवार को सड़कों पर उतरे. हिंदू महासभा के कार्यकर्ताओं ने लगभग दो साल पहले गोडसे की प्रतिमा स्थापित कर मंदिर बनाने का ऐलान किया था. Also Read - मध्य प्रदेश: उज्जैन में जहरीली शराब से 11 लोगों की मौत, 5 पुलिसकर्मी निलंबित

इस प्रतिमा को प्रशासन ने जब्त कर लिया था. वर्तमान में यह प्रतिमा प्रशासन के पास ही है. हिंदू महासभा के प्रतिनिधियों ने मंगलवार को सड़क पर उतरकर गोडसे की प्रतिमा वापस करने की मांग की. इस संदर्भ में हिदू महासभा की ओर से प्रशासन को ज्ञापन भी सौंपा गया. Also Read - Hathras Case: ड्रामेबाज नेताओं को लगाओ 50 कोड़े, आरोपियों को मारो ऑन स्पॉट गोली, जानिए किसने कहा...

हिंदू महासभा का कहना है कि, “अपने निजी मकान में प्रतिमा स्थापित करने का उनका संवैधानिक अधिकार है, इसे रोका नहीं जा सकता. प्रशासन ने जो प्रतिमा जब्त की है, उसे वापस किया जाए.” बता दें कि नाथूराम गोडसे ने महात्मा गाँधी की हत्या की थी. महात्मा गाँधी को गोली मार दी थी. 30 जनवरी 1948 को महात्मा गाँधी को नाथू राम गोडसे ने गोली मारी थी. Also Read - कॉमिक्स के अंदाज में पुलिस युवाओं को बता रही- कैसे फंसाते हैं उन्हें अपराधी...