ग्वालियर (मध्य प्रदेश): अखिल भारतीय हिंदू महासभा (Akhil Bhartiya Hindu Mahasabha) महात्मा गांधी की हत्या करने वाले नाथूराम गोडसे को लेकर प्रचार करेगी. महासभा का कहना है कि लोगों को गोडसे से जुड़े सही तथ्यों के बारे में बताया जाएगा. महासभा 14 मार्च को ग्वालियर से दिल्ली तक वाहन रैली निकालेगी और इस दौरान महात्मा गांधी के हत्यारे नाथूराम गोडसे एवं सह-षडयंत्रकारी नारायण राव आप्टे से जुड़े तथ्यों से लोगों को अवगत कराएगी. हिंदू महासभा ने इस साल 10 जनवरी को ग्वालियर में दौलतगंज स्थित अपने दफ्तर में नाथूराम गोडसे की ‘ज्ञानशाला’ की शुरूआत की थी, लेकिन ग्वालियर जिला प्रशासन के दखल देने के बाद उसे 12 जनवरी को बंद कर दिया था. Also Read - जया बच्चन ने राज्यसभा में उठाया मैला ढोने की कुप्रथा का मुद्दा, कहा- ये देश के लिए शर्मिंदगी का विषय

अखिल भारतीय हिंदू महासभा के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष डॉ. जयवीर भारद्वाज ने कहा, ‘‘हाल ही में महासभा के पदाधिकारियों की बैठक हुई थी, जिसमें तय किया गया कि अब समय आ गया है कि देश के युवाओं तक देश विभाजन के तथ्य बताए जाएं और उस समय हिंदुओं पर जो अत्याचार हुए, उसकी जानकारी दी जाए.’’ उन्होंने कहा कि इसके लिए 14 मार्च को दोपहर 12 बजे ग्वालियर के हिंदू महासभा कार्यालय से एक यात्रा दिल्ली तक के लिए निकाली जाएगी. इस यात्रा में महासभा के 17 राज्यों की इकाइयों के प्रमुख शामिल होंगे. Also Read - कांग्रेस में बवाल के बाद उठे सवाल- क्या गोडसे समर्थक पर है कमलनाथ का हाथ?

डॉ. जयवीर भारद्वाज ने बताया कि ये सभी पदाधिकारी दिल्ली में महासभा भवन में एकत्र होंगे और 15 मार्च को दिल्ली में कांग्रेस की राष्ट्रीय अध्यक्ष सोनिया गांधी से मिलने का प्रयास करेंगे. उन्होंने कहा, ‘‘इस यात्रा का मुख्य उद्देश नाथूराम गोडसे एवं नारायण राव आप्टे के बारे में जानकारी लोगों तक, खासतौर से युवाओं तक पहुंचाना है.’’ Also Read - मध्य प्रदेश कांग्रेस में बढ़ा विवाद, कमलनाथ के खिलाफ बोलने वाले नेता पार्टी से निष्कासित