भोपाल: मध्य प्रदेश के गृहमंत्री डॉ. नरोत्तम मिश्रा (Narottam Mishra) ने पूर्व मुख्यमंत्री और प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष कमल नाथ (Kamal Nath) की तुलना महमूद गजनवी से की है. डॉ. मिश्रा का कहना है कि गरीबों के पैसे को लूटकर कमल नाथ ने महमूद गजनवी जैसा जघन्य पाप किया है. मप्र सरकार भी कांग्रेस (Congress) के बेहिसाब लेनदेन के पूरे मामले का संज्ञान लेकर विधि विशेषज्ञों से राय लेगी. इनकम टैक्स विभाग से रिकॉर्ड मांगकर ईओडब्ल्यू से जांच कराने पर विचार करेगी. Also Read - शिवराज सिंह चौहान ने की मध्य प्रदेश में कोरोना वैक्सीनेशन की शुरुआत, बोले- 'मोदी हैं तो मुमकिन है'

उन्होंने आगे कहा कि कमल नाथ की सरकार प्रदेश के इतिहास की भ्रष्टतम सरकार थी. अब मीडिया में भी मप्र से कांग्रेस मुख्यालय को भेजी गई बेहिसाब नकदी का खुलासा हुआ है. कमल नाथ प्रदेश की जनता के सोशल वेलफेयर का पैसा गांधी फैमिली के वेलफेयर पर लुटा रहे थे, ताकि कुर्सी सलामत रहे. Also Read - MP Freedom of Religion Bill 2020: मध्‍य प्रदेश की कैबिनेट ने 'लव जिहाद' के खिलाफ बिल को दिखाई हरी झंडी

राज्य के गृहमंत्री ने एक खबर का हवाला देते हुए कहा, कमल नाथ के राज में मप्र से कांग्रेस मुख्यालय को भेजे गए 106 करोड़ रुपये आयकर के दस्तावेजों से अकबर रोड नई दिल्ली को भेजी गई बेहिसाब नकदी का खुलासा कमल नाथ आखिर सच सामने आ ही गया कि मुख्यमंत्री के रूप में आप जनकल्याणकारी योजनाओं के लिए हमेशा पैसों की कमी का रोना क्यों रोते रहते थे? Also Read - Year Ender 2020: 2020 के वे विवादित बयान, जिनसे राजनीति जगत में मच गई खलबली