होशंगाबाद: मध्यप्रदेश के होशंगाबाद में चौंका देने वाला मामला सामने आया है. सरकारी अस्पताल में पदस्थ डॉक्टर ने पहले अपने ड्राइवर की हत्या की, इसके बाद वह उसकी लाश को आरी से काट टुकड़े-टुकड़े कर रहा था. साथ ही सैकड़ों टुकड़ों को एसिड से जला रहा था, इसी दौरान मौके पर पुलिस पहुँच गई. हाल और डॉक्टर की करतूत देख पुलिस के भी होश उड़ गए. पुलिस ने उसे अरेस्ट कर लिया है.

ये हैरान कर देने वाली घटना मध्य प्रदेश के होशंगाबाद की है. बताया जा रहा है कि शहर के आनंद नगर इलाके में रहने वाला हड्डी रोग विशेषज्ञ डॉ. सुनील मंत्री इटारसी के सरकारी अस्पताल में पदस्थ है. सोमवार को दिन में पुलिस को सूचना मिली कि डॉक्टर ने अपने ड्राइवर की हत्या कर दी है. पुलिस तत्काल ही मौके पर पहुंच गई. मौके पर पुलिस ने जो देखा वह दहला देने वाला था. डॉक्टर अपने ड्राइवर की लाश को आरी से काट रहा था. उसने टुकड़े-टुकड़े कर ढेर लगा रखा था. वह टुकड़ों को भी ठिकाने लगाने के लिए एसिड से गला रहा था. डॉक्टर ने ड्राइवर की लाश के 500 से अधिक टुकड़े कर दिए थे. पुलिस के मुताबिक कोई भी हिस्सा ऐसा नहीं बचा था, जिससे ड्राइवर की पहचान हो सके. सटीक शिनाख्त के लिए उसका डीएनए टेस्ट कराया जा रहा है.

ड्राइवर की पत्नी से थे प्रेम-संबंध
बताया जा रहा है कि डॉक्टर के ड्राइवर की पत्नी के साथ प्रेम संबंध थे. बताते हैं कि डॉक्टर के अपने ही ड्राइवर की पत्नी से संबंध हो गए. ड्राइवर की पत्नी उसकी प्रेमिका बन गई. इसकी भनक जब ड्राइवर को लगी तो उसका डॉक्टर से विवाद हो गया. यह बात बाहर नहीं फैल जाए इसके बाद डॉक्टर ने यह कदम उठाया. हत्या के बाद उसके टुकड़े-टुकड़े कर दिए. डॉक्टर की पत्नी का कुछ साल पहले देहांत हो चुका है.

ड्राइवर की पत्नी को देख दंग रह गई पुलिस
पुलिस अब मृतक ड्राइवर की पत्नी से घटनास्थल पर बंद कमरे में पूछताछ कर रही है. पुलिस के अनुसार ड्राइवर की पत्नी को बुलाया गया तो उसने पहले आने से इंकार कर दिया, इसके बाद जब जबरन लाया गया तो पुलिस अधिकारी उसके ठाठ-बाठ देख दंग रह गए. पुलिस आईजी केसी जैन और एसपी अरविंद सक्सेना मौके पर पहुंच चुके हैं. आला अफसरों का दावा है कि इस मामले का जल्द ही पूरा खुलासा कर दिया जाएगा. लोग इस घटना से दंग हैं.