इंदौर: मध्य प्रदेश के इंदौर में पदस्थ आबकारी विभाग के सहायक आयुक्त आलोक खरे के कई ठिकानों पर मंगलवार को लोकायुक्त की टीम ने छापेमारी की. शुरुआती जांच में ही दो स्थानों पर 57 एकड़ के फार्म हाउस सहित करोड़ों की संपत्ति का खुलासा हुआ है. टीम आगे की जांच पड़ताल में जुटी हुई है. लोकायुक्त के सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार, सहायक आबकारी आयुक्त आलोक खरे के पास आय से अधिक संपत्ति होने की शिकायत मिली थी. इस शिकायत की पुष्टि के बाद मंगलवार को लेाकायुक्त के दलों ने इंदौर के अलावा भोपाल, रायसेन व छतरपुर में उनके ठिकानो पर दबिश दी.

ज्योतिरादित्य सिंधिया अब तक नहीं भुला पाए लोकसभा चुनाव की हार को, ऐसे छलका दर्द

सूत्रों के अनुसार, लोकायुक्त के विभिन्न ठिकानों से कई प्रकार की अचल संपत्ति होने के दस्तावेज के साथ नगदी भी बरामद हुई है. जो दस्तावेज अब तक मिले हैं, वह इस बात का खुलासा कर रहे हैं कि संपत्ति करोड़ों रुपये की है. बताया गया है कि विभिन्न स्थानों पर लोकायुक्त की सात टीमें तलाशी में लगी हैं. इंदौर में एक बंगला, एक फ्लैट, भोपाल मे दो बंगले सहित अन्य स्थानों पर आवास व जमीन होने की जानकारी मिली है. इसके साथ ही भोपाल में 10 लाख और रायसेन में पांच लाख की नगदी मिली है. वहीं रायसेन जिले में आधुनिक सुविधायुक्त दो फार्म हाउस जो लगभग 57 एकड़ में है, का पता चला है.