भोपाल: मध्‍य प्रदेश की राजधानी भोपाल की मध्य सीट से कांग्रेस विधायक आरिफ मसूद ने सोमवार को धमकी दी है कि यदि कमलनाथ के नेतृत्व वाली मध्यप्रदेश की कांग्रेस सरकार राज्य में राष्ट्रीय जनसंख्या पंजी (NPR) लागू करने का अपना फैसला वापस नहीं लेगी तो वह समूचे प्रदेश में अपनी ही सरकार के खिलाफ आंदोलन करेंगे. Also Read - Coronavirus Latest Update in Madhya Pradesh: राज्य में टोटल लॉकडाउन, दूध और दवा के अलावे कोई दुकान नहीं खुलेगी

मसूद ने भोपाल में मीडियाकर्मियों को बताया, ”केंद्र सरकार द्वारा लागू किया गया एनपीआर अब मध्यप्रदेश के गजट में भी आ गया है. यह गलत काम हुआ है.’’ Also Read - मध्यप्रदेश के गांव में ‘मुसलमान व्यापारियों का प्रवेश निषेध’ की तस्वीर हो रही है वायरल, जानें क्या है इसकी सच्चाई   

कांग्रेस विधायक आरिफ मसूदने कहा कि कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी, कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी एवं पार्टी के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी इस एनपीआर का विरोध कर चुके हैं. इसलिए मध्यप्रदेश की कांग्रेस नीत सरकार द्वारा इसे प्रदेश में लागू करना गलत है. मध्यप्रदेश सरकार के इस निर्णय का हम विरोध करते हैं. Also Read - मध्यप्रदेश में कोरोना से एक और व्यक्ति ने तोड़ा दम, राज्य में संक्रमितों की संख्या 155 हुई 

आरिफ मसूद ने कहा, ”एनपीआर को मध्यप्रदेश में ना लागू किया जाए इसपर मैं अन्य लोगों के साथ मिलकर कमलनाथ से बातचीत करूंगा. यदि उनका (कमलनाथ) निर्णय संतोषजनक नहीं रहा तो मैं 24 से 30 फरवरी के बीच किसी भी एक दिन भोपाल में आंदोलन करूंगा. इसके बाद हम समूचे प्रदेश में इस मांग को लेकर आंदोलन करेंगे.”

आरिफ मसूद ने कहा कि हर 10 वर्ष में होने वाली उस जनगणना से हमें कोई एतराज नहीं है, जिसमें जनगणना वाले आते थे और घर में कितने लोग हैं पता कर चले जाते थे. लेकिन वर्तमान में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की सरकार जो एनपीआर लाई है, उसमें लोगों से उनके बाप एवं दादा के नाम सहित छह अन्य सूचना मांगी जाएगी. इस प्रकार की जनगणना नहीं की जानी चाहिए. हम इसका विरोध करते हैं.