नई दिल्ली: मध्य प्रदेश में ‘वंदे मातरम’ को लेकर मचे विवाद के बीच मुख्यमंत्री कमलनाथ ने आदेश दिया है कि पुलिस बैंड के साथ वंदे मातरम गाया जाएगा. सीएम कमलनाथ ने कहा कि हर महीने के पहले वर्किंग-डे पर सुबह 10:45 पर शौर्य संपर्क से बल्लभ भवन तक मार्च के दौरान वंदे मातरम का धुन बजेगा जिससे लोगों में देशभक्ति की भावना को बढ़ावा दिया जा सके. सीएम ने कहा कि भवन में प्रवेश के बाद राष्ट्रगान और वंदे मातरम गाया जाएगा. बता दें कि पिछले करीब 13 साल से हर महीने के पहले कामकाजी दिन भोपाल स्थित मंत्रालय में राष्ट्रीय गीत ‘वंदे मातरम’ गाने की चली आ रही परंपरा मंगलवार को टूट गई थी.

नए साल के पहले कार्य दिवस एक जनवरी को मंत्रालय में ‘वंदे मातरम’ नहीं गाया गया, जिस पर राजनीतिक विवाद पैदा हो गया था. विपक्षी भाजपा ने सत्ताधारी कांग्रेस की देशभक्ति पर सवाल उठाते हुए पूछा था कि कांग्रेस अपने शासनकाल में प्रदेश में ‘भारत माता की जय’ बोलने पर भी तो रोक नहीं लगा देगी.

‘वंदे मातरम’ पर प्रतिबंध लगाने को दुर्भाग्यपूर्ण और शर्मनाक करार देते हुए भाजपा अध्यक्ष अमित शाह ने सवाल किया था कि कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी बताएं कि ‘वंदे मातरम्’ के इस अपमान का निर्णय क्या उनका है? शाह ने अपने बयान में कहा, ‘मैं कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी से पूछना चाहता हूं कि ‘वंदे मातरम्’ का यह अपमान क्या उनका निर्णय है? मध्यप्रदेश सरकार के इस दुर्भाग्यपूर्ण निर्णय पर राहुल गांधी को देश की जनता के सामने अपना पक्ष स्पष्ट करना चाहिए.

उन्होंने आरोप लगाया कि ‘वंदे मातरम्’ पर प्रतिबंध लगाकर कांग्रेस ने न सिर्फ देश की स्वाधीनता के लिए वंदे मातरम् का जय घोष गाकर अपना सर्वस्व अर्पण करने वाले वीर बलिदानियों का अपमान किया है बल्कि यह मध्य प्रदेश की जनता के साथ भी विश्वासघात है भाजपा अध्यक्ष ने कहा कि किसी भी प्रकार की राजनीतिक सोच में देश के बलिदानियों का अपमान करना मेरे जैसे एक आम भारतीय की दृष्टि में देशद्रोह के समान है.

वहीं राज्य के पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने ट्विटर पर लिखा था, ‘अगर कांग्रेस को राष्ट्र गीत के शब्द नहीं आते हैं या फिर राष्ट्र गीत के गायन में शर्म आती है, तो मुझे बता दें! हर महीने की पहली तारीख को वल्लभ भवन के प्रांगण में जनता के साथ वंदे मातरम मैं गाऊंगा. उन्होंने आगे लिखा, ‘मैं और भाजपा के समस्त विधायक मध्यप्रदेश विधानसभा सत्र की शुरूआत के पहले दिन 7 जनवरी, 2019 को प्रातः 10:00 बजे वल्लभ भवन के प्रांगण में वंदे मातरम का गान करेंगे. इस मुहिम से जुड़ने हेतु आप सभी का स्वागत है.